Friday, June 14, 2024
Homeआज का दिनगणतंत्र दिवस: 21 तोपों की सलामी के साथ फहराया था तिरंगा

गणतंत्र दिवस: 21 तोपों की सलामी के साथ फहराया था तिरंगा

नेहा राठौर (26 जनवरी)

26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस हर देशवासी के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है, आज ही के दिन भारत का संविधान लागू हुआ था और संविधान लागू होने के बाद भारत देश के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ने 21 तोपों की सलामी के साथ तिरंगा फहराकर भारत देश को एक लोकतांत्रिक, संप्रभु और गणतंत्र देश घोषित किया गया था, उसके बाद से हमारा देश हर साल इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाता आया है। आज भारत 29 राज्यों का संघ है। यह संसदीय प्रणाली की सरकार वाला गणराज्य है। यह गणराज्य भारत के संविधान के अनुसार संचलित किया जाता है जिसे संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 को अपनाया था और आज के दिन लागू किया था।

राष्ट्रीय ध्वज समारोह

हर साल इस दिन को मनाने के लिए हमारे देश के वीर जवानों को उनके उनके लड़ाई में शौर्य दिखाने के लिए सम्मानित किया जाता है और कई सारी झांकियां भी निकाली जाती है। देश के जवान परेड मार्च निकालते है। इस दिन देश के पहले नागरिक यानी राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस में हिस्सा लेते है और राष्ट्रीय ध्वज फहराते है। यह कार्यक्रम दिल्ली में किया जाता है और बाकी राज्यों में राज्य के राज्यपाल  अपनी राजधानियों में इस दिन राष्ट्रीय ध्वज फहराते है। हर साल भारत में दो राष्ट्रीय ध्वज समारोह किये जाते है पहला गणतंत्र दिवस पर और दूसरा स्वतंत्रता दिवस पर। स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री राष्ट्रीय ध्वज राष्ट्रीय राजधानी में फहराते हैं और राज्य की राजधानियों में वहां के मुख्यमंत्री ।

ये भी पढे़‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ पर ले चुनावों में मतदान देने की शपथ

पहले गवर्नर जनरल का त्यागपत्र

गणतंत्र दिवस के बारे में तो सब जानते है, लेकिन आज ही के दिन और भी बहुत कुछ हुआ था, जिसे बहुत कम लोग जानते है। आज आजाद भारत के पहले और अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी ने अपने पद से त्याग पत्र भी दिया था, वह एक राजनीतिज्ञ, लेखक, वकील और दार्शनिक व्यक्ति थे। लोग उन्हें राजाजी के नाम से भी जानते है। वह पहले दक्षिण भारत के कांग्रेस के प्रमुख नेता थे, लेकिन बाद में वे कांग्रेस के सख्त विरोधी बन गए, जिसके बाद उन्होंने स्वतत्रं पार्टी की स्थापना की। रिश्ते में वह गांधी जी के समधी थे, उनकी बेटी लक्ष्मी की शादी गांधी जी के छोटे बेटे देवदास गांधी से हुई थी। वह अपने जीवन काल में मद्रास प्रांत के मुख्यमंत्री भी रहे। यही नहीं आज ही के दिन डॉ राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने थे। 24 जनवरी को उन्हें संविधान सभा में राष्ट्रपति के लिए चुना गया था लेकिन आज वह पूरे देश के राष्ट्रपति बनाए गए थे। 

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments