टीएमसी में जीत का माहौल, वहीं बीजेपी की हार का कारण कौन?

नेहा राठौर

पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों मे हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे सामने आ चुके हैं। इस बार बंगाल में चुनाव के नतीजे ममता बनर्जी के पक्ष में आए हैं। तृणमूल कांग्रेस के खाते में 212 सीटे, जबकी बीजेपी के खाते में 79 सीटे आई हैं। इसके बाद से टीएमसी पार्टी में उत्सव का माहौल बना हुआ है।

बता दें कि कुछ समय पहले तक कहा जा रहा था कि देश मोदीमय हो चुका है, चारों तरफ पीएम मोदी का ही गुणगान हो रहा था, लेकिन कोरोना की एक  ऐसी भयंकर सुनामी आई कि देश मोदी सरकार के खिलाफ हो गया। बंगाल में टीएमसी की बड़ी जीत इस बात की तस्दीक कर रही है कि पीएम मोदी का जादू अब जनता के सिर से उतर चुका है। ऐसे में कई सवाल सामने आ रहे हैं कि क्या बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कद को प्रभावित करेंगे? बीजेपी के हार के पीछे क्या कारण थे? क्या बीजेपी की हार कारण कोरोना संकट है?

यह भी देखें- ऑक्सीजन सप्लाई रोकने को लेकर सोनू सूद ने चीन से किया सवाल, चीन ने दिया जवाब

इस पर राजनितिक विष्लेषकों की राय अलग-अलग है। कई राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि पीएम मोदी के नेतृतव में बीजेपी ने बंगाल के राजनीतिक समीकरण को बदलने की पुरजोर प्रयास किया था। यहां तक की बीजेपी की तरफ से जीत का दावा भी किया गया था, लेकिन सत्तारूढ़ टीएमसी ने ममता बेनर्जी के नेतृतव में बीजेपी के सभी दावों की बखिया उधेड़ कर रख दी है।

वहीं, पश्चिम बंगाल के पत्रकार अजय बोस का इस पर कहना है कि राज्य में बीजेपी के हार के 2 बड़े कारण हैं। पहला स्थानीय चेहरे की कमी यानी (मुख्यमंत्री के लिए चहरा) और दूसरा टीएमसी को तोड़कर टीएमसी टू बनाना ही बीजेपी को भारी पड़ गया। अजय बोस ने कहा कि बीजेपी के पास राज्य में वो चेहरा नहीं था, जो स्थानीय स्तर पर ममता बनर्जी को टक्कर दे सके। बीजेपी ने लड़ाई तो बहुत अच्छे से लड़ी, लेकिन स्थानीय नेतृत्व के मसले पर उठाये गए सवालों का उसके नेताओं के पास कोई जवाब नहीं होता था। यही वो मात खा गए।  

यह भी देखें- कोरोना में लगे हेल्थ वर्कर्स को राहत, बीमा योजना छह महीने बढ़ी

कोरोना काल में जिस तरह से लोगों ऑक्सीजन और दवाइयों के लिए तड़प रहे हैं। ऐसे में ज्यादतर लोग केंद्र सरकार पर अपना गुस्सा जता रहे हैं। आने वाले समय में इस चुनाव का तो प्रधानमंत्री की छवी पर असर पड़ेगा ही साथ ही इस कोरोना दौर का भी खासा असर अगले आने वाले चुनावों में भी देखने को मिल सकता है।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।   



Leave A Reply

Your email address will not be published.