सिक्स सिग्मा की मेडिकल टीम पहुंची केदारनाथ, भक्तों को देंगे हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस

अपनी पत्रिका

केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं को मेडिकल सेवा देने के लिए डॉ. प्रदीप भारद्वाज के नेतृत्व में सिक्स सिग्मा हाई ऑल्टिट्यूड मेडिकल सर्विस की टीम केदारनाथ पहुंच गई है। यह टीम यात्रा के दौरान धाम की चिकित्सा व्यवस्था को संभालेगी। सिक्स सिग्मा हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस के चिकित्सा निदेशक डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने बताया कि यात्रा के दौरान चिकित्सा सेवा प्रदान करने के लिए सिक्स सिग्मा की मेडिकल टीम ने रुद्रप्रयाग जिले के सभी उच्च अधिकारियों से सहयोग मांगा।

मेडिकल टीम के सदस्य सबसे पहले जिलाधिकारी श्री मनुज गोयल से मिले। हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस टीम ने जिलाधिकारी को प्रतीक चिह्न भेंट कर सम्मानित किया। वार्ता के दौरान जिलाधिकारी ने यात्रा में सिक्स सिग्मा हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस के चिकित्सा निदेशक को हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस के चिकित्सा निदेशक डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी श्री डॉ. बी. के. शुक्ला संग यात्रा के समय दी जाने वाली चिकित्सा सुविधाओं के बारे में विस्तार से चर्चा की।

ये भी पढ़ें – कोरोना काल में उठती अंधविश्वास की लहर

सीएमओ डॉ. शुक्ला ने डॉ. प्रदीप भारद्वाज को बताया कि केदारनाथ धाम में चिकित्सा सुविधा प्रदान कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से सिक्स सिग्मा हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस को सहयोग का आश्वासन दिया। इस बार यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को ऑक्सीजन सिलेंडर के अलावा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और वेंटिलेटर की सुविधा भी मिलेगी। विभाग की ओर से दवाइयों और मेडिकल उपकरणों की आपूर्ति के लिए समुचित व्यवस्था की है। मुलाकात दौरान डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने डॉ. बी. के. शुक्ला को प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया। सिक्स सिग्मा हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस के मुख्यकार्यकारीधिकारी डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस के बारे में बताया कि मेडिकल टीम के साथ अब तक हिमालय क्षेत्र के कई दुर्गम स्थानों पर मेडिकल सेवाएं दे चुके हैं।

2018 में सिक्स सिग्मा हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस की टीम ने चारधाम यात्रा में श्री केदारनाथ धाम, श्री मद्महेश्वर धाम और हेमकुंड साहिब में 40,000 से अधिक श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य सेवाएं दी थी। मेडिकल टीम विभिन्न हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल कैम्पों में अब तक 53,889 पीड़ितों को प्राथमिक चिकित्सा और 5,600 लोगों को आकसमिक सेवा दे चुकी है। उन्होंने बताया कि सिक्स सिग्मा की मेडिकल टीम ने कैलाश मानसरोवर यात्रा में डोल्मा पास-19500 फीट की ऊंचाई पर 1120 पीड़ितों को चिकित्सा सहायता देकर उनकी जान बचाई थी। 2015 में नेपाल में आए भीषण विनाशकारी भूकंप में गोरखा जिले में सिक्स सिग्मा हाई आॅल्टीट्यूड मेडिकल रेस्क्यू टीम के साथ सबसे पहले पहुंचकर आपदा से पीड़ित 1700 से अधिक लोगों की सहायता की थी। इसके अलावा 2014 में श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान 11,290 श्रद्धालुओं को चिकित्सा सेवा देकर उनको नवजीवन प्रदान किया था। वहीं 2008-2018 तक श्री मणिमेहश यात्रा (जिला-चम्बा, भरमौर, हिमाचल प्रदेश) में 24,000 यात्रियों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई ।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।  

Comments are closed.