दिल्ली में रेजीडेंट डॉक्टरों की हड़ताल खत्म

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार द्वारा आवश्यक सेवा रखरखाव अधिनियम (एस्मा) लागू किए जाने के कुछ घंटों बाद, राष्ट्रीय राजधानी में डॉक्टरों ने दो दिन से चल रही अपनी हड़ताल देर रात समाप्त कर दी। हड़ताल कर रहे डॉक्टरों के खिलाफ दिल्ली सरकार ने अपने द्वारा संचालित अस्पतालों में सामान्य कामकाज के लिए एस्मा लागू किया था। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि रेजीडेंट डॉक्टरों ने अपनी हड़ताल समाप्त कर दी है और सरकार को इस बारे में सूचित कर दिया है। जैन ने ट्वीट किया �रेजीडेंट डॉक्टरों ने हडताल समाप्त कर दी। इससे पहले सरकार ने सरकारी अस्पतालों के डाक्टरों की हड़ताल को खत्म करवाने के उद्देश्य से इसपर आवश्यक सेवा रखरखाव अधिनियम (एस्मा) लागू कर दिया था।

डॉक्टरों की हड़ताल का कल दूसरा दिन था, जिससे राष्ट्रीय राजधानी की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह चरमरा गईं। सरकारी अस्पतालों के डॉक्टर कार्य स्थल पर सुरक्षा की कमी, जीवन रक्षक दवाओं का अभाव तथा समय पर वेतन भुगतान न होने की शिकायत के साथ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए थे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि सरकार ने डॉक्टरों की सभी मांगें मान ली हैं इसलिए हड़ताल की कोई जरूरत नहीं है। इससे पहले, जैन ने कहा था कि दोनो पक्षों के बीच हुई बातचीत के दौरान सरकार ने हड़ताली डॉक्टरों द्वारा रखी गई 19 मांगों को मंजूर कर लिया। जैन ने कहा कि बैठक के दौरान उन्होंने पांच और मांगे रखीं, जिन्हें भी मान लिया गया और हमने बैठक का ब्यौरा भी वितरित किया है। डॉक्टरों की मांग का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि एक बड़ी चिंता सुरक्षा को लेकर है और वह सरकारी अस्पतालों में पुलिस सुरक्षा दिए जाने की मांग के साथ दिल्ली के उपराज्यपाल से मिले हैं।

Comments are closed.