Sunday, July 21, 2024
Homeदेशकोरोना में 150 देशों की मददगार बनी हमारी वैक्सीन

कोरोना में 150 देशों की मददगार बनी हमारी वैक्सीन

नेहा राठौर

 नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्विट्जरलैंड के दावोस में चल रहे विश्व आर्थिक मंच के शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि देश ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए सभी बाधाओं के दूर किया है। देश में बनी वैक्सीन 150 देशों को निर्यात की जा चुकी है और दुनिया को और टीके उपलब्ध कराए जाएंगे। उन्होंने जोर देकर कहा कि महामारी के दौरान हमने न सिर्फ अपने पड़ोसी देशों के अलावा ब्राजील को भी भारत में बनी वैक्सीन भेजी है।

मोदी ने देश में कोरोना से लड़ने के लिए तकनीक के इस्तेमाल के बारे में बोलते हुए कहा, हमने कोविड-19 विशिष्ट स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे के विकास करने पर जोर लगाया, मानव संसाधन को कोरोना से लड़ने के लिए प्रशिक्षित किया, जांच और ट्रैकिंग के लिए तकनीक का भरपूर इस्तेमाल किया। उन्होंने देश की कोरोना महामारी से लड़ने की प्रतिक्रिया की तारीफ करते हुए कहा कि अब तक दो वैक्सीन देश में बनाई गई हैं और जल्द ही कई और वैक्सीन आने जा रही हैं।

ये भी पढे़ – व्हाट्सएप चैट को अब टेलिग्राम में कर सकते हैं इंपोर्ट

भारत ने अपने पड़ोसी देशों की मदद करने के लिए 28 जनवरी को सहायता अनुदान एवं प्रथम नीति के तहत कोविड-19 के टीके की खेप बांग्लादेश और नेपाल को भेजी है। इतना ही नहीं इससे एक दिन पहले  भारत ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ  इंडिया द्वारा उत्पादित कोविशील्ड टीके की 1,50,000 खुराक भूटान को, जबकि 1,00,000 खुराक मालदीव को भेजी थी। भारत हमेशा से मदद करने पर यकीन रखता आया है और इस बार भी भारत ने पड़ोसी देशों की मदद करके साबित कर दिया कि भारत मदद करने में सबसे आगे रहता है।

ये भी पढे़ – हिंसा के दौरान लाल किले में तैनात महिला कांस्टेबल ने बताई आप बीती

बता दें कि  विदेश मंत्रालय ने कहा था कि भारत दुनिया के बड़े टीका निर्माताओं में से एक है और कोरोना वायरस का टीका खरीदने के लिए काफी देशों ने भारत से सम्पर्क किया है। भारत सहायता अनुदान के तहत भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार, सेशेल्स को कोविड-19 के टीके की आपूर्ति करेगा लेकिन कहा जा रहा है कि पाकिस्तान को इसका फायदा नहीं मिलेगा क्योंकि अभी तक इस पड़ोसी देश ने भारत से सम्पर्क नहीं किया है।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments