Wednesday, June 19, 2024
Homeदेशहिंसा के दौरान लाल किले में तैनात महिला कांस्टेबल ने बताई आप...

हिंसा के दौरान लाल किले में तैनात महिला कांस्टेबल ने बताई आप बीती

नेहा राठौर

गणतंत्र दिवस के अवसर पर किसानों की ट्रैक्टर रैली द्वारा आईटीओ, लाल किला, मुकरबा चौक और टिक्करी बॉर्डर के आसपास की गई हिंसा में करीब 400 पुलिस कर्मियों घायल हुए है, जिसमें महिला सुरक्षाकर्मी भी शामिल है। उपद्रवियों ने DTC की बसों में तोड़ फोड़ की और आईटीओ में पुलिस कर्मियों पर पत्थर, लाठी, भाले और तलवारों से वार किया इस दौरान कई पुलिस कर्मियों को चोट आई है। वहीं रैली के ही एक समूह ने लाल किले पर पहुँचकर हिंसा कर वहां तिरंगे की जगह अपना किसान झंड़ा और निशान साहिब लहराया। पुलिस और उपद्रवियों की इस मुठभेड़ में दो किसानों की भी जान चली गई।

महिला सुरक्षाकर्मी ने बताया आंखों देखा हाल

इस पर जब उत्तरी दिल्ली के तीरथ राम अस्पताल  में भर्ती कुछ घायल पुलिसकर्मियों के साथ बात की गई, जो उस समय वहां ड्यूटी पर मौजूद थे। उन्होंने बताया कि भीड़ अचानक उग्र हो गई थी और जब उन्हें रोकने की कोशिश की तो उपद्रवियों ने उनपर हमाल कर बोल दिया। इतना कुछ होने के बावजूद पुलिस कर्मियों ने अपने वरिष्ठों के आदेश का पालन किया और संयम से काम लिया।

ये भी पढे़बिगड़े माहौल में कैसे मनाया जाएगा बीटिंग द रिट्रिट का समारोह

इस हिंसा को लेकर मौरिस नगर पुलिस स्टेशन में तैनात हेड कांस्टेबल कुमारी रेखा कल से सदमें में है। गणतंत्र दिवस पर रेखा की तैनाती लाल किले में हुई थी। इस हिंसा में उन्हें बाएं हाथ और रीढ़ में चोटें आई हैं। 

कुछ ऐसा ही हाल महिला हेड कांस्टेबल रितु का भी है। उन्हें बताया की उनकी तैनाती लाल किले में की गई थी। जब प्रदर्शनकारी ट्रैक्टरों के साथ आगे बढ़ रहे थे, तब वह असहाय थे और उपद्रवी उन पर लाठी और पत्थरों से हमला करने लगे। उन्होंने कहा कि बिना किसी चीज के सिर्फ लाठियों से उन्हें ज्यादा देर तक नहीं रोका जा सकता था। उन्होंने अचानक हमला किया और हमें सिर्फ शांत रहने का आदेश दिया गया था।

अभी भी सदमे पुलिसकर्मी

हिंसा में उपद्रवियों के वार से बचने के लिए कई पुलिसकर्मी लाल किले के पास खाई में कुद गए, जिन्में से कई के ऊपर वहां लगी ग्रिल गिर गई, जिस वजह से उन्हें कई चोटे भी आई है। इस भयानक दृश्यों को भुला पाना सभी के लिए मुश्किल है। खास कर उन सुरक्षाकर्मियों और पुलिसकर्मियों के लिए जिन्होंने इसे अपने ऊपर सहा है। उनमें से कुछ तो अभी इस सदमे से ऊभर ही नहीं पाएं है। 

गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस ने 37 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की और 200 लोगों को हिरासत में ले लिया हेै।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments