NCT के विरोध में केजरीवाल का जंतर-मंतर में विरोध प्रदर्शन

नेहा राठौर

NCT बिल को लेकर केंद्र और दिल्ली सरकार में टकराव जारी है। केंद्र ने संसद में सोमवार को NCT संशोधित बिल पेश किया है, जिससे उपराज्यपाल की शक्तियां बढ़ने के आसार है। ऐसे में दिल्ली सरकार इस मामले में लगातार विरोध कर रही है। बिल के विरोध में बुधवार को पार्टी ने जंतर-मंतर पर एक धरना भी आयोजित किया था। इस धरने में सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी शिरकत कर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र के इस बिल से दिल्ली के लोग दुखी हैं।

उन्होंने आगे कहा कि अगर एलजी ही सरकार है तो दिल्ली में चुनाव का क्या मतलब है। भाजपा दिल्ली सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है। ये लोग देश में सरकार गिराने के लिए ही मशहूर है।

यह भी देखें – आमिर खान ने सोशल मीडिया छोड़ने का बताई वजह

केजरीवाल ने बिल को समझाते हुए कहा कि उस कानून का मुताबिक दिल्ली सरकार का मतलब एलजी होगा, फिर हमारा क्या मतलब होगा। हमारे साथ तो धोखा हुआ है। केजरीवाल ने बीजेपी को घेरते हुए कहा कि दिल्ली में MCD में उनको एक भी सीट नहीं मिली, क्योंकि दिल्ली की जनता कह रही हैं की हमको आम आदमी पार्टी ही चाहिए। लेकिन ये दिल्ली में चोरी से राज करना चाहते हैं। बिल्कुल जैसे एक छोटा बच्चा क्रिकेट हार जाने पर बल्ला और बॉल लेकर भाग जाता है ना, वैसे ही ये दिल्ली में जनता का राज खत्म करना चाहत है। पूरे देश में यही कर रहे हैं

उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी के विधायक बिक नहीं रहे हैं तो ये कानून लाकर दिल्ली की सत्ता ही ख़त्म करना चाहते हैं। असल बात तो ये है कि इन्हें सूरत, कर्नाटक और दिल्ली में निगम की सीट की वजह से तकलीफ हो रही है। अब तो उत्तर प्रदेश और गुजरात के लोग भी फ्री बिजली मांग रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अगर वोट चाहिए तो तुम भी अच्छे काम करो। केंद्र सरकार देश की जनता के साथ धोखा मत करो। ये चाहे जितनी हमारी जितनी भी  शक्तियां छीन लें, हम ऐसे ही काम करते रहेंगे। बता दें कि जंतर-मंतर पर AAP कार्यकर्ताओं समेत दिल्ली सरकार के और भी कई मंत्री, नेता भी वहां मौजूद रहे।

Comments are closed.