Friday, June 14, 2024
Homeदेशकोरोना के बाद म्युकरमाइकोसिस का कहर

कोरोना के बाद म्युकरमाइकोसिस का कहर

प्रियंका आनंद

जह़ॉ कोरोना से ठिक होकर लोगों को राहत मिल रही है तो दुसरी ओर एक और समस्या लोगों की चिंता का विषय बना हुआ है। कोरोना से ठिक होते मरीजों को एक और जानलेवा बिमारी ने घरना शुरु कर दिया है जिसका नाम है म्यूकोरमाइकोसिस। आम भाषा में इसे ब्लेक फंगस भी कहा जाता है। ड़ॉक्टरों के अनुसार यदि इस बिमारी का इलाज ठिक समय पर नही कराया गया तो इसके चलते इंसान की मौत भी हो सकती है। जानकारी के अनुसार इस बिमारी से लोगों को साइनेंस जैसी बिमारी भी हो रही है। लोगों में म्यूकर इतनी तेज़ी से फैल रहा है कि इससे जबडे और नाक पर भी असर देखने को मिल रहा है।

क्या है म्यूकोरमाइकोसिस –

म्यूकर एक काले रंग का फंगस है जो तेज़ी से संक्रमण फैलाता है। जहा यह फंगस होता है वहा की त्वचा काली और वहा का अंदरुनी हिस्सा काला होने लगता है। अगर यह फंगस नाक और मुह के जरीये दिमाग तक पहुच जाए तो व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। यह फंगस वायु से लेकर पेड  – पौधौं और धुल भरी जगहों पर भी पाया जाता है। विशेषयों की अगर माने तो गन्ने के ऊपर जो काले रंग पाउडर लगा होता है यह वही फंगस है। कोरोना से ठिक हुए मरीजों में अगर यह फंगस नाक, मुह या कटी त्वचा के जंरीये उनके शरीर में चला गया तो  बिमार होना लाज़मी है।

यह भी पढें – रोहिणी के ओवरसीज अपार्टमेंट की अनोखी पहल

म्यूकर होने के कारण-

डाक्टरों के अनुसार इस बिमारी के होने के तीन मुख्य कारण सामने आए है-

यदि किसी व्यक्ति के शरीर में किसी प्रकार का टरांसप्लांट हुआ हो तो एसी स्थिती में भी इस बिमारी का खतरा बना रहता है।

कोरोना के इलाज के चलते मरीज को दिए जाने वाले स्टरॉयडस से शरीर में शुगर लेवल के बढना म्यूकर के संक्रमण को बढा रहा है।

इसके अलावा आइ सी यू में लंबे समय तक रह रहे मरीज के ऑक्सीजन के फ्लो मिटर का तेजी से बढना भी मुख्य कारण माना जा रहा है।

यदि किसी व्यक्ति में म्यूकरमाइकोसिस होता है तो उसे पहचानना काफी आसान होता है जैसै- ऑखों में सूजन आ जाना, क्षमता से अधिक सर में दर्द होना, ऑखों का रंग लाल हो जाना आदि। कोरोना से ठिक होने के बाद म्यूकर का खतरा लोगों में बढता नज़र आ रहा है। यदि सही समय पर सावधानी और इलाज करा जाए तो इस खतरे से बचा भी जा सकता है नही तो व्यक्ति की जान भी जा सकती है।

म्यूकर से बचाव –

म्यूकर से बचने के लिए यह ज़रुरी है कि लोगों को इसकी सही जानकारी हो साथ ही अपने हाथ, मुह और ऑखों की साफ सफाई का भी खास ख्याल रखें। यदि किसी व्यक्ति को ज़रा से भी लक्षण दिखाई दे तो तुरंत डाक्टर की सलह ले और उनकी सलह से ही अपना इलाज करें।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।                      

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments