Monday, May 27, 2024
Homeअपराधदिल्ली में महफूज नहीं हैं महिलाएं

दिल्ली में महफूज नहीं हैं महिलाएं

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में बलात्कार की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। महिलाएं फुटपाथ पर तो क्या, घरों में भी सुरक्षित नहीं हैं। महिलाओं के साथ बलात्कार, छेड़खानी की वारदातें लगातार बढती जा रही है। कड़ाके की ठंड के बावजूद रात के दो बजे फुटपाथ पर सो रही एक महिला के साथ दरिंदों द्वारा बेटी के सामने ही बलात्कार करने की वारदात ने एक बार फिर राजधानी में महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल खड़ा कर दिया हैं। महिला सुरक्षा के तमाम दावे खोखले साबित हो रहे हैं।

मजे की बात यह है कि महिलाओं को लेकर हल्ला मचाने वाले राजनीतिक दल और महिला संगठन भी खामोशी ओढे दिख रहे हैं। इन संगठनों की खामोशी लोगों को अखर रही है। इससे पहले कभी बच्चियों के साथ तो कभी वृद्धाओं के साथ बलात्कार की वारदातें हुईं। कुछ दिन पहले खुद को उत्तर प्रदेश पुलिस का अधिकारी बताकर महिला के साथ बलात्कार करने के मामले में 28 वर्षीय शख्स को गिरफ्तार किया गया है। महिला ने आरोप लगाया था कि पहाड़गंज के एक होटल में उसके साथ हैवानियत को अंजाम दिया गया। गिरफ्तार शख्स का नाम संदीप कुमार था जो उत्तर प्रदेश के मेरठ का रहने वाला था।

ये भी पढ़ेंदिल्ली में पत्थर से मारने की धमकी देकर महिला से रेप

कुछ दिन पहले बाहरी दिल्ली में एक बुजुर्ग महिला के साथ हैवानियत का शर्मनाक मामला सामने आया था, जहां एक वहशी दरिंदे ने एक 90 साल की बुजुर्ग महिला के साथ बलात्कार की वारदात को अंजाम दे डाला। इससे पहले जब महिला ने विरोध किया तो आरोपी ने उसकी पिटाई भी की थी।

घटना नजफगढ़ के छावला इलाके में हुई थी। पीड़ित बुजुर्ग महिला शाम करीब 5 बजे अपने घर के बाहर दूध वाले का इंतजार कर रही थीं। उसी वक्त एक अनजान व्यक्ति ने उन्हें आकर कहा कि दूध वाला आज नहीं आया है और वो उन्हें दूध वाले के पास ले जाएगा। बुजुर्ग महिला उस शख्स की बातों में आ गईं और उसके साथ रेवला खानपुर फार्म जा पहुंची, वहां वो शख्स एक वहशी दरिंदा बन गया। उसने महिला के साथ बेरहमी से बलात्कार किया।

ये भी पढ़ेंसीबीएसई ने बोर्ड परीक्षा की डेट शीट जारी की

सुप्रीम कोर्ट के आंकड़े बताते हैं कि 2019 में जनवरी से जून के बीच बच्चों, खासकर लड़कियों के खिलाफ 24000 से अधिक बलात्कार के मामले दर्ज हुए थे। 2018 में भारत में 33,977 बलात्कार के केस दर्ज हुए हैं। राष्ट्रीय अपराध शाखा ब्यूरो के रिकार्ड के अनुसार 2018 में दिल्ली में बलात्कार के 1217 मामले दर्ज हुए थे।#

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments