Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र और केंद्र में BJP का विरोध कर रही शरद पवार की...

महाराष्ट्र और केंद्र में BJP का विरोध कर रही शरद पवार की पार्टी नागालैंड में आएगी साथ, एनसीपी ने बताई यह वजह

महाराष्ट्र और केंद्र में भाजपा के खिलाफ भूमिका निभाने वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने फैसला लिया है कि उनकी पार्टी नागालैंड (Nagaland) में नेफ्यू रियो (Neiphiu Rio) के नेतृत्व वाली बीजेपी-एनडीपीपी (BJP-NDPP) गठबंधन को स्वीकार करेगी। हालांकि, यह बात साफ नहीं की है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सरकार का हिस्सा होगी या केवल बाहर से सरकार का समर्थन करेगी। यह कदम बहुत महत्वपूर्ण है और इसका प्रभाव महाराष्ट्र की राजनीति में भी पड़ने की संभावना है। वहां एनसीपी कांग्रेस और शिवसेना के उद्धव ठाकरे गुट के साथ गठबंधन में है।

पार्टी विधायकों ने इसे राज्य के हित में उठाया गया कदम बताया

राकांपा (NCP) की नागालैंड इकाई और पार्टी के विजयी 7 विधायकों के “राज्य के व्यापक हित” में सरकार का समर्थन करने की राय जताने के बाद यह फैसला सामने आया। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वोत्तर प्रभारी नरेंद्र वर्मा ने न्यूज एजेंसी एएनआई को फोन पर बताया कि पार्टी नागालैंड विधानसभा में विपक्ष के नेता के पद के लिए एक प्रस्ताव पेश करने पर विचार कर रही थी।

वर्मा ने मीडिया को जारी पत्र में बताया कि एनसीपी विधायक दल की 4 मार्च को कोहिमा में हुई पहली बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि पार्टी विधायक दल का नेता, उपनेता, मुख्य सचेतक, सचेतक और प्रवक्ता कौन होगा। एर पिक्टो शोहे को एनसीपी विधायक दल का नेता, पी लॉन्गोन को उप के रूप में चुना गया है। राकांपा विधायक दल के नेता नामरी नचांग को मुख्य सचेतक, वाई मोहनबेमो हम्त्सो को सचेतक और एस. तोइहो येप्थो को प्रवक्ता बनाया गया।

उन्होंने बताया, “इस बारे में भी चर्चा हुई कि एनसीपी को सरकार का हिस्सा बनना चाहिए या मुख्य विपक्षी पार्टी की भूमिका निभानी चाहिए। स्थानीय नवनिर्वाचित विधायक और नागालैंड की राकांपा स्थानीय इकाई की राय थी कि हमें हिस्सा होना चाहिए।”

कहा कि विधायकों की राय है, “यह नागालैंड राज्य के व्यापक हित और हमारे अपने भले में होगा कि हम नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (NDPP) के प्रमुख और नागालैंड के मुख्यमंत्री एन रियो का समर्थन करें।” अंतिम फैसला शरद पवार पर छोड़ा गया था। पवार ने मंगलवार को नॉर्थ ईस्ट प्रभारी की बात सुनने के बाद एन रियो के नेतृत्व को स्वीकार करने का फैसला किया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments