Monday, May 27, 2024
HomeदेशSahara Protest : 29 मई को लखनऊ में राष्ट्रगान गाकर सहारा निवेशकों...

Sahara Protest : 29 मई को लखनऊ में राष्ट्रगान गाकर सहारा निवेशकों का भुगतान मांगेगा ऑल इंडिया जन आंदोलन संघर्ष न्याय मोर्चा 

राष्ट्रीय अध्यक्ष अभय देव शुक्ला ने कहा- सुब्रत रॉय के दिखावे के राष्ट्रवाद के विरोध में देशभक्ति के नाम पर पैसा मांगने की बनाई गई है रणनीति

निवेशकों के भुगतान को लेकर सहारा इंडिया के खिलाफ सड़कों पर उतरे ऑल इंडिया जन आंदोलन संघर्ष न्याय मोर्चा ने 29 मई को लखनऊ में राष्ट्रगान का कार्यक्रम कर भुगतान मांगने की अनोखी रणनीति बनाई है। ऑल इंडिया जन आंदोलन संघर्ष न्याय मोर्चा के देशभर के पदाधिकारी और कार्यकर्ता लखनऊ पहुंच रहे हैं।

बिहार से प्रदेश अध्यक्ष मोहित कुमार की अगुआई तो मध्य प्रदेश से राष्ट्रीय महासचिव नीरज शर्मा और प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सोलंकी, उत्तर प्रदेश खुद राष्ट्रीय अध्यक्ष अभय देव शुक्ला और प्रदेश अध्यक्ष संसार सिंह, झारखंड से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नागेंद्र कुशवाहा और प्रदेश अध्यक्ष प्रभात कुमार, तेलंगाना से महिला मोर्चा की अध्यक्ष पूजिता मिश्रा की अगुआई में बड़े स्तर पर निवेशक लखनऊ में पहुंच रहे हैं। राष्ट्रगान के माध्यम से भुगतान मांगने के इस अनोखे तरीके पर जब अभय देव शुक्ला से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सुब्रत रॉय ने राष्ट्रगान गाकर गिनीज बुक में सहारा का नाम दर्ज कराकर  देशभक्ति का इस्तेमाल निवेशकों को ठगने के लिए किया था पर उनका संगठन देशभक्ति के नाम पर निवेशकों के भुगतान की लड़ाई लड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि सुब्रत रॉय को उनका भुगतान करना ही पड़ेगा। अभय देव शुक्ला का कहना था कि गृह मंत्री अमित शाह ने सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध कर जो 5000 करोड़ रुपए से सेबी सहारा के खाते से रिलीज कराया है वह भी उनके आंदोलन के दबाव में हुआ है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए अभय देव शुक्ला ने कहा कि योगी आदित्यनाथ आरोपियों के घरों पर बुलडोजर चलवाकर बढ़ी वाहवाही लूट रहे हैं पर सुब्रत रॉय का गुनाह उन्हें नहीं दिखाई दे रहा है। जिस व्यक्ति की वजह से हजारों एजेंटों  ने आत्महत्या कर ली करोड़ों निवेशक सड़कों पर आ गए। जिस व्यक्ति पर तीन लाख करोड़ से ऊपर का भुगतान लोगों का है उन सुब्रत रॉय को योगी आदित्यनाथ शरण देने का काम कर रहे हैं।

केंद्र सरकार को चेताते हुए उन्होंने कहा कि या तो मोदी सरकार सहारा निवेशकों का भुगतान कराएगी या फिर उसे सत्ता से हाथ धोना पड़ेगा। उनका कहना था कि वह मध्य प्रदेश में ऑल इंडिया जन आंदोलन संघर्ष मोर्चा के मंच पर कांग्रेस के कई पूर्व मंत्रियों का ही आना था कि विधानसभा घेराव करते समय हुई मजबूती से घरबराकर केंद्र सरकार ने आनन् फानन में सेबी से 5000 रुपए रिलीज कराये।

 

दरअसल ऑल इंडिया जन आंदोलन ने सहारा निवेशकों के भुगतान को न केवल मध्य प्रदेश की विधान का घेराव किया बल्कि झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र के साथ ही दिल्ली जंतर मंतर पर भी बड़ा आंदोलन किया है।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments