Monday, April 15, 2024
Homeअपनी पत्रिका संग्रहऑनलाइन फ्राड से रहे सावधान, दिल्ली में सीबीआई ने पकड़ा फर्जी कॉल सेंटर

ऑनलाइन फ्राड से रहे सावधान, दिल्ली में सीबीआई ने पकड़ा फर्जी कॉल सेंटर

इन दिनों दिल्ली सहित देश के बाकी हिस्सों में आनलाइन ठगी के ढेरों मामले सामने आ रहे हैं। सीबीआई ने अमेरिकी जांच एजेंसियों ने मदद एक मोबाइल कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है जो लोगों को अपनी ठगी का शिकार बना रहे थे। चार स्थानों पर तलाशी के दौरान उपकरण, विदेशी मुद्रा और तीन करोड़ रुपये से अधिक बरामद हुए हैं। दिनों दिन बढ़ते ऐसे फ्राड से कैसे रहे सुरक्षित उसी की पडताल करती रिपोर्ट-

एक ओर टेक्नोलॉजी ने हमारा जीवन आसान बनाया है वहीं इसके कुछ नुकसान भी हैं जो हमें झेलने पड़ते हैं। डिजिटलाइजेशन के दौर में हर चीज हमसे सिर्फ एक क्लिक की दूरी पर है। इन सबके साथ ऑनलाइन पेमेंट भी बढ़े हैं। ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा से हमें खुदरा रुपयों की चिंता नहीं रहती और यह आसान भी है। लेकिन इसके साथ ही इसमें धोखाधड़ी की संभावना भी बनी रहती है। ऑनलाइन ठगी की खबरें हम आए दिन पढ़ते रहते हैं। इस आर्टिकल में हम बताएंगे कि अगर कभी आप ऑनलाइन ठगी का शिकार हो जाएं तो आपको क्या-क्या कदम उठाने चाहिए।

सबसे पहले वह खबर जिसके कारण आनलाइन ठगी फिर से चर्चा में है। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो ने दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में चार फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया। फर्जी कॉल सेंटर तकनीकी सहायता की पेशकश के जरिये अमेरिकी नागरिकों से कथित ठगी में लिप्त था। सीबीआई ने दिल्ली-एनसीआर में चार स्थानों पर तलाशी के दौरान उपकरण, विदेशी मुद्रा और तीन करोड़ रुपये से अधिक बरामद किए।

वैसे यह मामला पिछले साल 10 जून को हरीश कुमार, अमित कुमार, राकेश कुमार अथोत्रा और राज कुमारी के खिलाफ सीबीआई की एक प्राथमिकी से संबंधित है। प्राथमिकी में इन पर तकनीकी सहायता की आड़ में कंप्यूटरों को नियंत्रित कर अमेरिकी नागरिकों से ठगी का आरोप लगाया गया था। यह लोग कथित तौर पर अपने स्रोतों से हासिल उपभोक्ता की जानकारी के जरिये टेक्स्टनो एप्लिकेशन के माध्यम से कॉल कर अमेरिका में उन्हें निशाना बनाते थे। इस दौरान वे समस्या को हल करने के बहाने एनी डेस्क जैसे रिमोट एक्सेस सॉफ्टवेयर का उपयोग करके कंप्यूटर (सिस्टम) पर अपना नियंत्रण स्थापित कर लेते थे। सीबीआई की अमेरिकी जांच एजेंसियों ने मदद की और उन्होंने पाया कि चारों एक मोबाइल कॉल सेंटर चला रहे थे जिसमें वे एक जगह से दूसरी जगह जाते थे।

इसी तरह आनलाइन पबजी गेम खेलने के दौरान एक युवती की झज्जर के रहने वाले एक युवक से दोस्ती हो गई। अब युवती की शादी तय हुई तो युवक ने बदनाम करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और एक लाख 44 हजार रुपये ऐंठ लिए। इसी तरह यदि आप सावधानी न बरतें तो कोई भी आपका पासवर्ड चुरा कर आपके अकाउंट से पैसे निकाल सकता है। कोई फिशिंग के जरिये भी आपको नुकसान पहुंचा सकता हैं। साइबर ठग अक्सर कोई ऑफर के बारे में बताकर, कभी आपके एकाउंट में नंबर अपडेट करने को लेकर तो कभी किसी और बहाने से ठगी का जाल बुनते हैं। ज्यादातर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती है इसलिए उन्हें झांसे में ले लेना आसान भी हो जाता है। ऐसे में आपको सावधान रहना बेहद जरूरी है।द्रीय गृह मंत्रालय ने साइबर क्राइम या ऑनलाइन ठगी की घटनाओं को रोकने और इनकी शिकायत दर्ज कराने के लिए एक नेशनल हेल्पलाइन नंबर (155260) जारी किया है। आप धोखाधड़ी की शिकायत इस नंबर पर दर्ज करा सकते हैं। यदि आप ऐसे किसी अपराध के शिकार होते हैं तो सबसे पहले इस नंबर पर कॉल करें। इसके अलावा आप गृह मंत्रालय के साइबर पोर्टल https://cybercrime.gov.in/ पर भी इसकी शिकायत कर सकते हैं।

 

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments