Monday, May 27, 2024
HomeअपराधFBI की मदद से दिल्ली पुलिस ने Maxico से पकड़ा 5 लाख...

FBI की मदद से दिल्ली पुलिस ने Maxico से पकड़ा 5 लाख का इनामी दीपक बॉक्सर, 1200 करोड़ के काले धन का खुलेगा राज

नई दिल्ली । रोहिणी कोर्ट में कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या के बाद गिरोह का कमान संभाल रहे दीपक पहल उर्फ बॉक्सर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मैक्सिको में गिरफ्तार कर लिया है। अमेरिकी जांच एजेंसी फेडरल ब्यूरो आफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) की मदद से उसे गिरफ्तार किया गया।

सेल की टीम उसे भारत लेकर आ रही है। सोनीपत, गन्नौर रहने वाले दीपक पर दिल्ली पुलिस से दो लाख, हरियाणा पुलिस से दो लाख और यूपी पुलिस से एक लाख का ईनाम था। तीनों राज्यों में 15 से अधिक संगीन मामलों में दीपक वांछित था।

ऐसे पहुंचा मैक्सिको

 

उत्तरी जिला के बुराड़ी में हुई होटेलियर व बिल्डर अमित गुप्ता हत्याकांड में दिल्ली पुलिस को दीपक की तलाश थी। वह जूनियर नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट रहा है। बरेली से फर्जी पासपोर्ट बनवा कर वह कोलकाता से मैक्सिको भाग गया था। इसकी गिरफ्तारी से अब आईएएस व आईपीएस के 1200 करोड़ से अधिक की बेनामी संपत्ति का पता लग सकता है।

ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर की थी हत्या

पिछले साल 23 अगस्त को बुराड़ी में बाइक से आए बदमाशों ने अमित गुप्ता पर ताबड़तोड़ गोलियां चला उनकी हत्या कर दी थी। वारदात के बाद गुप्ता के सहयोगियों ने उनके मोबाइल उठाकर चालक को सौंप दिया था। चालक ने उनके दोनों मोबाइल स्वजन को सौंप दिया था।

 

अगर फोन मिल जाता तो खुलते कई राज

 

वारदात के बाद उत्तरी जिला पुलिस ने स्वजन को नोटिस जारी कर उनके मोबाइल सौंपने को कहा लेकिन स्वजन ने पुलिस को मोबाइल सौंपने से इनकार कर दिया था। पुलिस अधिकारी का कहना है कि अगर गुप्ता के मोबाइल फोनों की जांच की जाती तो कई राज खुल सकते थे।

जांच में पता चला था कि अमित गुप्ता से कई आईएएस व आईपीएस से बेहतर संबंध थे। करीब सात विशेष आयुक्त, कुछ संयुक्त आयुक्त, डीसीपी, दानिप्स अधिकारियों के अलावा कई एसएचओ और कई आइएएस, एक पूर्व मुख्य सचिव, एक पूर्व उपराज्यपाल के सचिव, उनके बेटे व दामाद के करीब 1200 करोड़ गुप्ता ने विभिन्न व्यवसायों में लगा रखा था।

125 एकड़ जमीन खरीदी

जांच से पुलिस को पता चला था कि अलीपुर के पल्ला बख्तावरपुर में उन्होंने करीब 125 एकड़ जमीन खरीदी थी जिसमें कई अधिकारियों के लिए उन्होंने दो-दो एकड़ का प्लाट फार्म हाउस के लिए काट रखा था। दिल्ली व गोवा में उनकी रोमियो लेन व मामा ब्वॉय नाम से कई रेस्तरां, होटल व रिजार्ट है।

दिल्ली व हरियाणा में शराब के ठेके व प्रॉपर्टी में उन्होंने इन अधिकारियों के काले धन को निवेश किया था। अमित गुप्ता हत्याकांड की जांच क्राइम ब्रांच अथवा किसी बड़ी एजेंसी से कराने की जरूरत है लेकिन किसी न किसी दबाव के कारण इसकी जांच अब तक उत्तरी जिला पुलिस से ही कराई जा रही है।

सूत्रों की मानें तो अमित गुप्ता की योजना चंडीगढ़ के अलावा आस्ट्रेलिया व लंदन में भी होटल व रेस्तरां खोलने की थी, ताकि वहां आसानी से काले धन का निवेश किया जा सके लेकिन इससे पहले गोगी के प्रतिद्वंदी कुख्यात गैंगस्टर टिल्लू को वित्तीय सहायता प्रदान करने के चक्कर में उसके विरोधी जितेंद्र उर्फ गोगी गिरोह का कमान संभाल रहे दीपक के इशारे पर उसके शूटरों ने अमित गुप्ता की हत्या कर दी थी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments