Friday, June 14, 2024
HomeराजनीतिUP Nikay Chunav 2023 : यूपी निकाय चुनाव में सपा से 10...

UP Nikay Chunav 2023 : यूपी निकाय चुनाव में सपा से 10 कदम आगे भाजपा, तैयार किया ये नया मास्टर प्लान

\लखनऊ । नगरीय निकाय चुनाव के युद्ध में उतरी भारतीय जनता पार्टी मतदाताओं को अपने पक्ष में कर विरोधियों को मात देने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी (आइटी) के हथियार का भी इस्तेमाल करेगी। मतदाताओं तक पहुंच बनाने के लिए पार्टी जल्द ही मोबाइल एप संग घर-घर दस्तक देने जा रही है।भाजपा के आइटी सेल ने मतदाताओं का डाटाबेस इकट्ठा करने के लिए पन्ना प्रमुख नाम से एप विकसित किया है। निकाय चुनाव में मतदाताओं के बीच पैठ बनाने के लिए भाजपा जल्द ही घर-घर संपर्क अभियान शुरू करेगी।

 

अभियान के तहत मतदाताओं के घर जाने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं का साथ देने को पार्टी ने आइटी वालंटियर की फौज तैयार की है। प्रत्येक वार्ड में 25 आइटी वालंटियर घर-घर संपर्क करने वाले कार्यकर्ताओं के साथ जाएंगे और घर के सभी मतदाताओं का विवरण एप पर दर्ज करेंगे।

वह घर के एक सदस्य का मोबाइल नंबर जैसे ही एप पर दर्ज करेंगे वैसे ही उस नंबर पर ओटीपी जाएगा। उन्हें यह ओटीपी भी दर्ज करना होगा। यह इस बात का सुबूत होगा कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने वाकई उस घर में संपर्क किया है। इससे घर-घर संपर्क अभियान की रियल टाइम मानिटरिंग हो सकेगी। पार्टी के पास मतदाताओं का विस्तृत डाटाबेस तैयार हो सकेगा।

मतदाताओं के रुझान का चलेगा पता

इस मोबाइल एप का एक और फायदा यह होगा कि संपर्क-संवाद के दौरान मतदाताओं के रवैये से पार्टी को उनके रुझान का भी पता चल सकेगा। इससे पार्टी को यह अनुमान लगाने में मदद मिलेगी कि कौन उसका समर्पित मतदाता है और कौन नहीं। इसके आधार पर पार्टी आगे की रणनीति तय करेगी। इस डाटाबेस के आधार पर पार्टी मतदाताओं के साथ अपने कार्यकर्ताओं को संबद्ध करेगी जो उनसे लगातार संपर्क में रहेंगे। एप में दर्ज जानकारी के आधार पर पार्टी मतदाताओं को वाट्सएप के जरिये मतदाता पर्ची भी भेजेगी।

लोक सभा चुनाव के लिए पैठ बनाने की तैयारी भी

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष व निकाय चुनाव प्रभारी त्रयंबक नाथ त्रिपाठी ने बताया कि इस ऐप का ट्रायल रन प्रदेश के 37 जिलों में हो चुका है। अब निकाय चुनाव में पार्टी के घर-घर संपर्क अभियान में इसका इस्तेमाल करने की तैयारी है। उन्होंने दावा किया कि पहली बार निकाय चुनाव में इस तरह के एप का प्रयोग किया जा रहा है। दरअसल इस एप के जरिये भाजपा अगले वर्ष होने वाले लोक सभा चुनाव के लिए मतदाताओं के बीच अपनी जड़ें गहरी करना चाहती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments