Friday, June 14, 2024
Homeस्वास्थ्यसंचारी रोग नियंत्रण अभियान के साथ स्कूल चलो अभियान की शुरुआत

संचारी रोग नियंत्रण अभियान के साथ स्कूल चलो अभियान की शुरुआत

फिरोजाबाद । संचारी रोग नियंत्रण अभियान तथा स्कूल चलो अभियान का शुभारंभ शनिवार को प्रातः 11 बजे प्राथमिक विद्यालय रहना तहसील के पास सांसद चंद्र सेन जादौन तथा सदर विधायक मनीष असीजा द्वारा रैली को झंडी दिखाकर किया गया। इस मौके पर डीएम, नगर आयुक्त, सीएमओ, एसडीएम, बीएसए, नगर स्वास्थ्य अधिकारी सहित अन्य अंतर विभागीय अधिकारियों ने प्रतिभाग किया।
इस मौके पर सांसद चंद्र सेन जादौन ने कहा कि दोनों ही कार्यक्रम बच्चों के लिए अति महत्वपूर्ण हैं। सरकार बच्चों की शिक्षा के साथ-साथ उनके स्वास्थ्य को लेकर गंभीर है। उन्होंने बच्चों के अभिभावकों से अपील की कि बच्चों को स्कूल अवश्य भेजें साथ ही संचारी रोग नियंत्रण अभियान में स्वास्थ्य टीमों का सहयोग करें।


सदर विधायक मनीष असीजा ने कहा कि 1 अप्रैल से 30 अप्रैल तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान तथा स्कूल चलो अभियान चलाया जाएगा जिसकी शुरुआत वाहन रैली एवं बच्चों की रैली से की गई है। दोनों ही कार्यक्रमों को सभी विभाग एक दूसरे का सहयोग कर सफल बनाएं।
उन्होंने कहा कि जागरूकता कार्यक्रमों तथा रैली के माध्यम से बच्चों को स्कूल जाने के लिए प्रेरित किया जाएगा साथ ही संचारी रोगों को काबू करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयारियां पूर्ण कर ली गई है।
इस अभियान के तहत जहां घर-घर जाकर संचारी रोगों के प्रति जागरूकता फैलाई जा रही है वहीं इन रोगों को नियंत्रित करने के लिए जांच और तेज की जाएगी।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ नरेंद्र सिंह ने बताया कि जनपद में आज से विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू हो रहा है। यह अभियान 30 अप्रैल तक चलेगा। इस दौरान जनपदवासियों को वेक्टर जनित रोगों, जल जनित रोगों व लू आदि से बचाव व उपचार के बारे में जागरूक किया जाएगा। इसी बीच 17 अप्रैल से 30 अप्रैल तक दस्तक अभियान भी संचालित किया जाएगा।
नोडल अधिकारी डॉ अशोक कुमार ने बताया कि जो बीमारी एक मरीज से दूसरे स्वस्थ व्यक्ति में दूषित भोजन, जल या संपर्क या कीटनाशक या जानवर से फैलती है उसे संचारी रोग कहते हैं। इसमें प्रमुख रूप से डेंगू, मलेरिया, फाइलेरिया, कालाजार, चिकिनगुनिया, क्षय और कुष्ठ रोग आदि हैं। इन्हीं बीमारियों को नियंत्रित करने के लिए विशेष संचारी रोग चल रहा है।
उन्होंने कहा कि मच्छर जनित क्षेत्रों में फागिंग भी कराई जा रही है। इस अभियान के तहत घर-घर सर्वेक्षण कर फ्लू, खांसी, बुखार के रोगियों व कुपोषित बच्चों की जांच की जाएगी। अभियान के दौरान आशा संगिनी, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता प्रमुख भूमिका में घर-घर जाकर अभियान सफल बनाएंगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments