रिक्शे वाले ने दबोचे दो खूंखार स्नेचर , लोगों जमकर की पिटाई

–लोकेश कुमार
दिल्ली। थाने के नजदीक इलाके में लगातार हो रहे चैन स्नेचिंग के वारदात से गुस्साये लोगो के हत्थे जब चैन स्नेचर  चढा तो उसे पीट-पीट कर अधमड़ा कर दिया । वाक्या दिल्ला के भारत नगर इलाके का है।  शनीवार शाम भारत  थाने के ठीक सामने से एक महिला रिक्शे में बैठकर जा रही थी की बाइक पर सवार दो लड़कों ने उसका पर्स झपट लिया और भाग निकले।  इस बीच इनकी बाइक स्लिप हो गयी और वे गिर पड़े। महिला ने  तुरंत शोर मचा दिया।  रिक्शे वाले ने भी बिना देरी दिए उनमें एक को दबोच लिया।  यह नजारा देख लोगों को भी समझते देर नहीं लगाई और उन्होंने भी भागते हुए दूसरे झपटमार को पकड़ लिया।  लोगों ने दोनों की जमकर दुनाई की।
यह वारदात भारत नगर थाने से महज 50 से  60 मीटर की दूरी पर हुयी।  थाना पुलिस के जवान दूर से देख भी रहे थे लेकिन कोई पास नहीं आया। पब्लिक ने गन्दी गढ़नी गलियां देकर दोनों की जमकर पिटाई की तो इनमें एक अधमरा हो गया। इन लोगों का गुस्सा ऐसा था की थाने के ठीक आस पास मुख्य रोड पर ही ताबड़ तोड़ आये दिन इस तरह की वारदातें हो रही है लेकिन कोई भी पकड़ में आ रहा था।  आज जब ये स्नेचर इनके हत्थे चढ़े तो लोगों के सब्र का बाँध जबाबा दे गया और दोनों की जमकर धुनाई की।
सूचना मिलाने पर पहुंची पीसीआर ने इन्हे चाँद कदम की दूरी पर स्थित दीपचंद बंधू अस्पताल में पहुचाया।  अस्पाल में भी एक की हालत गंभीर नजर आ रही थी।  पुलिस ने जब पकड़े गए स्नेचर से पूछताछ की तो सामने आये की जिस बाइक से ये स्नेचिंग करके भाग रहे थे वह भी इन्होने सुबह ही चुराई थी।  इनके कब्जे से पुलिस को चोरी की बाइक ही नहीं बल्कि ऐसे ऐसे सामान मिले की पुलिस भी भौचकी रहे गयी।  पुलिस को समझ में आ गया की जनता ने इस बार शातिर स्नेचरों को दबोचा है। इनके पास से तेज़ धार वाले कई ब्लेड , नशे की गोलियां , नकली नंबर प्लेट, दर्द निवारक गोलियां, बरामद हुयी है।
थाने के  सामने स्थित  बुनकर कॉलोनी में ही पिछले हफ्ते में से 10 ज्यादा चोरियां हो चुकी है। स्थानीय निवासी जवाहर शर्मा ने कहा की पुलिस राउंड भी लगती है पर चोरियां और लूट रुक नहीं रही है।  पता नहीं क्यों अपराधी थाने के आस पास ही ज्यादा क्यों वारदात कर रहे है।
पकड़े गए दोनों स्नेचर पेशवर स्नेचर है।  करीब  20 से 25 साल के ये दोनों स्नेचर सूरज और शेर सिंह गुलाबी बाग़ के अँधा मुग़ल इलाके के रहें वाले है। शुरूआती जांच में पुलिस को पता लगा है की इन पर लूट और स्नेचिंग के 6 से ज्यादा मुकदमें दर्ज़ है।

Comments are closed.