Monday, May 27, 2024
Homeदेशपाक की ओर पहले गोली नहीं दागेगा भारत: राजनाथ

पाक की ओर पहले गोली नहीं दागेगा भारत: राजनाथ

नई दिल्ली। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि भारत अपने पड़ोसी देशों के साथ मित्रवत संबंध चाहता है इसलिए वह पाकिस्तान की ओर पहले गोली नहीं दागेगा। गृहमंत्री ने सीमा वार्ता के लिए यहां आए पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल से यह बात कही। सिंह ने पाकिस्तान रेंजर्स के महानिदेशक मेजर जनरल उमर फारूक बुर्की के नेतृत्व में यहां आए प्रतिनिधिमंडल से कहा, ‘‘भारत अपने सभी पड़ोसी देशों से मित्रवत संबंध चाहता है। भारत सीमा पर पाकिस्तान की ओर पहले गोली नहीं दागेगा।’’

इसके जवाब में बुर्की ने सिंह से कहा कि वह गृहमंत्री की तरह ‘‘नेतृत्व का हिस्सा नहीं है बल्कि केवल एक बल के महानिदेशक हैं’’ और वह इस संबंध में कोई प्रतिबद्धता जाहिर नहीं कर सकते। हालांकि बुर्की ने कहा कि वह सिंह का संदेश पाकिस्तानी नेतृत्व तक पहुंचा देंगे। गृहमंत्री ने पाकिस्तान रेंजर्स के प्रतिनिधिमंडल से कहा कि यह बात सुनिश्चित की जानी चाहिए कि पाकिस्तान की ओर से भारत में कोई घुसपैठ नहीं हो। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान को आतंकवाद के खतरे के खिलाफ एकजुट होना चाहिए।

उन्होंने पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल से कहा, ‘‘भारत की तरह पाकिस्तान भी आतंकवाद का एक पीड़ित है।’’ सिंह ने कहा कि भारत पाकिस्तान के साथ विभिन्न स्तरों पर वार्ता करना चाहता है और इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में रूस के उफा में अपने पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा, ”दुर्भाग्यवश, एनएसए स्तर की वार्ता नहीं हो पाई लेकिन हम पाकिस्तान के साथ अच्छे संबंध स्थापित करना चाहते हैं। मैं केवल औपचारिकता भर के लिए नहीं, बल्कि तहे- दिल से यह बात कह रहा हूं।’’ सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का हवाला देते हुए कहा कि ”हम मित्र बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं बदल सकते’’ और इसलिए सभी पड़ोसी देशों के साथ मित्रवत संबंध स्थापित करना आवश्यक है।

गृह मंत्री ने कहा, ‘‘अगर कुछ कारणों से गोलीबारी होती है तो दूसरे पक्ष को रोशनी बम का इस्तेमाल कर जवाबी कार्रवाई करने के पहले इसकी पुष्टि करनी चाहिए।’’ सिंह ने कहा कि उन्होंने पाकिस्तान रेंजर्स प्रतिनिधिमंडल से कहा है कि अगर दक्षिण एशियाई क्षेत्र की ताकतें एकसाथ आ जाएं तो वे शक्तिमान हो जाएंगे और किसी भी हालात से निपट सकते हैं। यह कहते हुए कि भारत में मुसलमानों के सभी 72 फिरके रहते हैं जबकि दुनिया के किसी भी और देश में सभी 72 फिरके नहीं रहते। उन्होंने कहा ‘‘ऐसा इसलिए कि भारत पाकिस्तान से ज्यादा इस्लामिक है।’’

पाकिस्तान रेंजर्स के डीजी बुर्की ने कहा कि उनका देश भी सीमा पर शांति और भारत के साथ सौहार्द भरा संबंध चाहता है। बुर्की ने कहा, ‘‘आपका देश बहुत बड़ा और विशाल है। यह एक महान राष्ट्र है। हम भी भारत के साथ अच्छा संबंध चाहते हैं।’’ गृह मंत्री ने कहा कि वह खुश हैं कि दोनों सुरक्षा बलों ने अपने कमांडरों के बीच संवाद के नये प्रारूप के तौर पर पारंपरिक फ्लैग मीटिंग आयोजित करने की प्रक्रिया की तुलना में त्वरित फैक्स और ईमेल के इस्तेमाल पर सहमति जतायी। सिंह के साथ रेंजर्स और बीसएफ प्रतिनिधिमंडल की बैठक करीब 30 मिनट तक चली जिसके बाद आगंतुक अपने भारतीय समकक्षों के साथ अगली बैठक के लिए रवाना हो गए। बहरहाल, बीएसएफ के महानिदेशक डीके पाठक ने गृहमंत्री के कार्यालय के बाहर संवाददाताओं से कहा कि पहले दिन वार्ता बहुत सौहार्दपूर्ण रही। उन्होंने कहा, ‘‘बेहद सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत हुयी। हमने सारे मुद्दे उठाए। जवाब बेहद सकारात्मक रहा। बैठक एक दिन के लिए बढ़ा दी गयी जो असाधारण है। यह बैठक में सकारात्मकता का परिणाम है।’’

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments