केजरीवाल ने छात्रों से की मुलाकात, ईरानी पर बरसे

हैदराबाद हैदराबाद विश्वविद्यालय के आंदोलनरत छात्रों का समर्थन करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश के इस प्रतिष्ठित संस्थान के दलित छात्र की खुदकुशी को आज ‘‘राष्ट्र के लिए शर्मनाक’’ बताया और केंद्र पर ‘‘जाति की राजनीति’’ में शामिल होने के प्रयास का आरोप लगाया। आंदोलनरत छात्रों को संबोधित करते हुए आप नेता ने रोहित वेमुला की मौत और इसके बाद छात्रों के आंदोलन को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी के बुधवार के बयान पर कहा कि मंत्री को अपने बयान के लिए जरूर माफी मांगनी चाहिए।

गौरतलब है कि दलित छात्र की खुदकुशी को लेकर सभी राजनीतिक दलों के निशाने पर चल रहीं एचआरडी मंत्री ने बुधवार को कहा था कि इसे स्पष्ट तौर पर जातिगत मुद्दा बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘रोहित एक बहुत मेधावी छात्र थे। वह दलित थे लेकिन वह आरक्षित कोटा से नहीं बल्कि अपनी प्रतिभा के बल पर आए थे। इस तरह का मेधावी छात्र जब आत्महत्या करता है तो मुझे लगता है कि यह पूरे देश और समाज के लिए शर्म की बात है।’’ विश्वविद्यालय के कुलपति को तत्काल हटाए जाने की मांग करते हुए केजरीवाल ने कहा कि केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय का ‘अंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन’ के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए एचआरडी मंत्री स्मृति ईरानी को पत्र लिखना, मुद्दे के संबंध में जांच करने से पहले किसी फैसले पर पहुंचने का उदाहरण है।

 

Comments are closed.