कांग्रेस ने शिवराज सिंह चौहान की बर्खास्तगी की मांग की

नई दिल्ली। व्यापमं घोटाले को लेकर कांग्रेस ने आज मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला तेज करते हुए कहा कि निष्पक्ष जांच के लिए उन्हें बर्खास्त किया जाना चाहिए और मुख्यमंत्री इस मामले से जुड़ी ‘45 मौतों’ को लेकर अपनी जिम्मेदारी से नहीं भाग सकते। विपक्षी पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनको स्पष्टीकरण देना चाहिए और ‘नैतिक जिम्मेदारी’ लेनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘शिवराज सिंह चौहान को बर्खास्त किया जाना चाहिए और व्यापमं घोटाले में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।’’ पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने इस बात पर जोर दिया कि मध्य प्रदेश सरकार को अगली ‘असामान्य मौत’ से पहले सीबीआई जांच का आदेश देना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘व्यापमं का सबक- अदालत की निगरानी स्वतंत्र जांच की गारंटी नहीं देती। कार्यपालिका की जिम्मेदारी बनती है। मप्र सरकार को गली असामान्य मौत से पहले सीबीआई जांच का आदेश देना चाहिए।’’ कांग्रेस प्रवक्ता पीसी चाको ने यहां कहा, ‘‘मुख्यमंत्री को नहीं बख्शा जा सकता। उन्हें जिम्मेदारी लेनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘देश में जो हो रहा है उस पर प्रधानमंत्री को स्पष्टीकरण देना चाहिए और इसकी नैतिक जिम्मेदारी लेनी चाहिए।’’ कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि राजग सरकार ने एक साल पहले लोगों से भ्रष्टाचार मुक्त और साफ-सुथरी सरकार का वादा किया था। उन्होंने कहा, ‘‘अब वही सरकार और उसका नेतृत्व कर रही पार्टी पूरी तरह से घोटालों और भ्रष्टाचार के साये में हैं।’’चाको ने कहा कि प्रधानमंत्री भारत के लिए और यहां की समस्याओं को देखने के लिए बहुत कम समय निकाल पाते हैं, परंतु आज जो गंभीर हालात पैदा हुए हैं उसको देखते हुए उनको जिम्मेदारी लेनी चाहिए। व्यापमं घोटाले में सीबीआई जांच की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि चौहान के निकट और परिवार के लोगों पर गंभीर आरोप लगे हैं। चाको ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री अगर सोचते हैं कि वह साफ-सुथरे हैं तो उनको इस मामले की सीबीआई जांच के लिए कहना चाहिए।’’ कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि व्यापमं द्वारा भर्ती एक महिला प्रशिक्षु उप निरीक्षक की मौत भी इसी घोटाले से जुड़ी हुई है। महिला की मौत सागर जिले की एक झील में हुई है। सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘व्यापमं द्वारा भर्ती की गई प्रशिक्षु पुलिसकर्मी ने सागर पुलिस अकादमी में खुदकुशी की।..46वी यां 47वीं मौत।’’ कांग्रेस नेता ने मांग की कि पत्रकारों के खिलाफ अपनी टिप्पणी को लेकर भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय माफी मांगें। उन्होंने कहा, ‘‘उनकी टिप्पणी निंदनीय है। इसमें अहंकार की बू आती है। उन्हें माफी मांगनी चाहिए।’’ युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राजीव सातव ने ट्वीट किया, ‘‘इतना बड़ा घोटाला, कितनी जानें चली गईं। फिर भी मप्र की भाजपा सरकार सीबीआई जांच के खिलाफ है। वे किसे बचा रहे हैं।

 

Comments are closed.