भाई ने बचाया सामूहिक बलात्कार से , तीन गिरफ्तार 

पत्रिका सवांदाता
दिल्ली। भाई समय पर नहीं पहुचता तो बहन सामुहिक बलात्कार का शिकार हो जाती। रक्षा बंध्न पर रिश्तेदार के घर से लौटते समय एक दंपति के साथ हुये हादसे ने दिल्ली पुलिस के शिष्टाचार आॅपरेशन को आईना दिखा दिया है। बाहरी दिल्ली के अलीपुर ईलाके में हुयी इस घटना में अलीपुर थाना पुलिस ने दो नाबालिग सहित तीन लोगों को पकड़ लिया है।
रक्षा बंधन के दिन अपने पति और भाई के साथ अलीपुर के बकौली गावं से वापस लौट रही महिला बीच रास्ते में अपने पति के  साथ इस बात को लेकर झगड़ पडी की इतनी रात को घर जाना कहाँ  तक ठीक है ? इनका झगड़ा बढ़ाते देख साथ आया भाई तुरंत ही वापस अपने रिस्तेदार के किसी को बुलाने चला गया।   इस बीच वहां एक बाइक पर सवार तीन लड़के वहां आये और महिला को गलत समझ कर उससे बदतमीजी  और छेड़छाड़ करने लगे।  इसे देख वहां से गुजर रहे कुछ स्थानीय लोगों ने इन्हे भगा दिया।
महिला और उसका पति भी वापस अपने शिफ्ट कार में बैठकर चल दिए।  इसके कुछ ही देर बात एनएच 1 अलीपुर रोड पर तीनो युवकों शिफ्ट कार के आगे अपनी बाइक लगा दी और पति को बहार निकाल कर कार को सड़क ने निचे उतार लिया।  दो नाबालिग लडको ने महिला के पति को पकड़ लिया और  उसके साथ मारपीट करने लगे और बालिग ने महिला को कार में ही लिटा दिया और उसके साथ रेप की कोशिस करने लगा।
इस बीच महिला का भाई भी वापस आ गया।  कुछ दूरी पर उसकें देखा की सड़क पर कुत्ते भोंक रहे है और वही बाइक पड़े है जिस पर लडके आयी थे।  भाई ने सर्विस लाईन निचे दिखा तो हैरान रह गया। दो लड़को ने उसके जीजा को पकड़ा हुआ था और उसे पीट रहे थे।  एक लड़का उसके बहन के साथ कार में जबरदस्ती  था।  उसने तुरंत पुलिस को फ़ोन किया और फिर उन लड़कों से भिड़ गया।  तीनो लडको ने मामला गंभीर होता देखा भागने में ही भले समझी। जाते जाते वे  दंपत्ति के दो मोबाइल और महिला  के पति का पर्स भी ले गए।
मामले की सोचना पर पहुंची पुलिस ने शिकायत और शिनाख्त के  बताये गए हुलिये और हालात के आधार पर जांच की तो तीनो लड़कों  को एक ही दिन में गिरफ्तार कर लिया।  इनमें दो बालिग सहित तीन लड़कों  को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।  इनमें के 20 वर्षीय भूरा है. भूरा पानी के प्लांट में काम करता है।
इस घटना ने फिर साबित कर दिया है की दिल्ली में महिलाओं के अकेले निकालना ही असुरक्षित नहीं है बल्कि परिवार और पति के साथ भी देर रात को निकलना खतरे से खाली नहीं है।  नाबालिग भी अब महिलाओां के लिए ख़तरा बन गए है। बहरहाल पुलिस ने तीनो को पकड़ कर उनके कब्जे से लुटे गए  मोबाइल और पर्स बरमद कर लिया है।

Comments are closed.