पाक ने किया संघर्षविराम उल्लंघन, एक ग्रामीण की मौत

जम्मू पाकिस्तानी सैन्य बलों ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के निकट अग्रिम चौकियों और असैन्य इलाकों में भारी गोलाबारी एवं गोलीबारी की जिसके बाद सेना ने भी उनके खिलाफ जवाबी कार्रवाई की। पुंछ के पुलिस अधीक्षक जेएस जौहर ने बताया कि नियंत्रण रेखा के समीप रिहायशी इलाकों में पाकिस्तान की गोलीबारी में एक ग्रामीण की मौत हो गयी और एक अन्य घायल हो गया।

इस बीच, एक रक्षा प्रवक्ता ने आज बताया कि पाकिस्तानी सैन्य बलों ने संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए रविवार रात साढ़े 11 बजे अग्रिम चौकियों पर मोर्टार, रॉकेट चालित ग्रेनेड (आरपीजी) और स्वचालित हथियारों से हमला करना शुरू किया। उन्होंने बताया कि उन्होंने स्वचालित और छोटे हथियारों का इस्तेमाल किया। उन्होंने 82 एमएम मोर्टार के गोले और आरपीजी दागे। गोले असैन्य इलाकों में भी गिरे। प्रवक्ता ने कहा, ”सेना ने प्रभावशाली जवाबी कार्रवाई की जिसके कारण दोनों ओर से गोलीबारी हुई जो इलाके से ताजा रिपोर्ट आने तक जारी थी।’’

भारत और पाकिस्तान के सीमा सुरक्षा बलों के बीच नौ सितंबर को होने वाली महानिदेशक स्तर की वार्ताओं से पहले इस साल सितंबर में पाकिस्तानी सैनिकों ने आठ बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। घुसपैठ और स्नाइपर हमलों समेत जम्मू-कश्मीर में संघर्षविराम उल्लंघन कुछ ऐसे प्रमुख मुद्दे हैं, जो भारत पांच दिवसीय वार्ताओं के दौरान पाकिस्तान के समक्ष उठा सकता है।

पाकिस्तानी सेना ने पांच सितंबर को भी पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा से लगी अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी करके संघर्षविराम का उल्लंघन किया था जिसमें सेना का एक जवान घायल हो गया था। पाकिस्तानी रेंजर्स ने चार सितंबर को जम्मू जिले के आरएस पुरा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगी चौकियों पर दो बार गोलीबारी की और मोर्टार के दो गोले दागे। इससे पहले पाकिस्तानी सेना ने तीन सितंबर को पुंछ में नियंत्रण रेखा के भिम्बर गली को निशाना बनाया था और दो सितंबर को कृष्णा घाटी क्षेत्र में हमला किया था। उन्होंने एक सितंबर को एक फॉरवर्ड डिफेंस लोकेशन (एफडीएल) पर गोलीबारी की थी।

भारतीय सैन्य बलों ने इन हमलों का प्रभावी तरीके से जवाब देते हुए उपयुक्त कार्रवाई की थी। पाकिस्तानी सेना द्वारा किए गए संघर्षविराम उल्लंघन में पिछले महीने दो जवानों समेत 11 लोगों की मौत हो गई थी और 30 से अधिक लोग घायल हुए थे। पाकिस्तान ने इस साल अब तक सीमा पर संघर्षविराम का 250 से अधिक बार उल्लंघन किया है जिनमें से 57 बार उल्लंघन की घटनाएं अगस्त के महीने में हुई।

 

Comments are closed.