यूपी- आगामी विधानसभा चुनाव में जानिये क्या है बीजेपी की ‘सॉफ्ट सेकुलरिज्म’ रणनीति

नेहा राठौर

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है। ऐसे में सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की नीति लिए बीजेपी भी समाज के एक बड़े वर्ग का विश्वास जीतकर चुनावी विजय के हिमालय पर पहुंचने की जद्दोजहद में लगी हुई है। इस बार भगवा दल अल्पसंख्यक वर्ग में खासतौर से मुस्लिम समाज का विश्वास जीतना चाहता है। अब इसे अपनी रणनीति का हिस्सा बनाकर पार्टी चुनाव में मुस्लिम समाज के लोगों को टिकट देने तैयारी कर रही है।   

पिछले लंबे समय से कई दल तुष्टिकरण की राजनीति के आरोपों को झेल रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद उनकी रणनीति में कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है, जबकि भाजपा अपने इतने मजबूत विजय रथ पर सवार होने के बावजूद एक बार सॉफ्ट सेकुलरिज्म का सिक्का उछाल कर देखने की तैयारी में लग रही है।  

ये भी पढ़ें – लगातार बारिश हुई असहनिय…

बता दें कि, सियासी गलियारों से अक्सर खबरें आती रहती हैं कि मुस्लिम समाज हमेशा उसी पार्टी को वोट देता है जो बीजेपी के मुकाबले में मजबूत दिखता है। इसी कथनी को भाजपा अपनी करनी से बेअसर करने में जुटी हुई है। 2014 के लोकसभा चुनाव में सबका साथ, सबका विकास की नीति अपनाने वाली बीजेपी पार्टी ने 2019 आते-आते अपनी नीति को विस्तृत कर दिया है।

करीब दो साल पहले प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा चुनाव जीतने के बाद संसदीय दल की पहली बैठक में सबका साथ, सबका विकास के साथ दो शब्दों को और जोड़ा था ‘सबका विश्वास’। जिसके जरिए ये संदेश दिया गया था कि अल्पसंख्यकों को छला गया है। और अब हम उनके विश्वास को जीतेंगे। माना तो यह भी जा रहा है कि बीजेपी ने तीन तलाक के खिलाफ कानून लाकर मुस्लिम महिलाओं को अपने साथ करने की कोशिश की थी, जिसका असर पिछले चुनावों में भी देखा गया था।  

गौरतलब है कि 2019 के बाद पार्टी की रीति-नीति में काफी बदलाव आया है, इसलिए यूपी के विधानसभा चुनाव की रणनीति पर भी इसका असर हो सकता है। यह कयास लगाया जा रहे हैं कि पार्टी मुस्लिम बहुल कुछ सीटों पर उसी समाज में से अपने उम्मीदवारों को भी चुने। यह भी माना जा रहा है कि इस बार पार्टी दर्जनभर से अधिक मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट थमा सकती है। अगर ऐसा होता है तो पार्टी इस बात का जरूर ख्याल रखेगी की प्रत्याशी हर पहलू से जीत हासिल कर सके।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें  Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।  

Leave A Reply

Your email address will not be published.