हरियाणा के पटौदी में रामभक्त गोपाल ने उगला जहर, बाद में दी सफाई

नेहा राठौर

सोशल मीडिया पर सोमवार को हरियाणा के पटौदी में चल रही एक सभा का वीडियो काफी वायरल हो रहा है, जिसमें बीते वर्ष सीएए का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग करने वाला रामभक्त गोपाल भड़काऊ बयान देता नजर आ रहा है।

बता दें कि रामभक्त गोपाल कोई और नहीं बल्कि वही नाबालिग शख्स है, जिसने 2020 में जामिया इस्लामिया में हो रहे प्रदर्शन के दौरान फायरिंग की थी। उसे हरियाणा के पटौदी में चल रही ‘लव जिहाद’ और ‘धर्मांतरण’ के खिलाफ आयोजित महासभा में खास निमंत्रण भेजा गया था, जहां उसने लोगों के बीच जाकर धर्म विशेष को लेकर टिप्पणी की। वहां उसे सुनने के लिए काफी बड़ी संख्या में लोग जमा हुए थे।

यह भी पढ़ेंएमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस आज अपने सीईओ के पद से देंगे इस्तीफा

वायरल वीडियो में वह कहता दिख रहा है कि “अगर वो हमारी बहनों को लेकर जा सकते हैं तो हम उनकी बहनों को क्यों नही ला सकते, अरे तुम सलमा को लेकर तो आओ” इतना ही नहीं उसने कहा कि “पटौदी से मेरी चेतावनी उन आतंकवादियों को, जेहादी मानसिकता वाले लोगों को और आस्तीन के सांपों को देना चाहता हूं कि जब राम भक्त गोपाल CAA के समर्थन में 100 किलोमीटर दूर जामिया तक जा सकता है, तो पटौदी ज्यादा दूर नहीं है।”

इस सभा में रामभक्त गोपाल के अलावा हरियाणा बीजेपी के प्रवक्ता सूरज पाल अमू जैसे भी कई लोग शामिल थे। इस मौके पर बीजेपी प्रवक्ता ने भी कम भड़काऊ बयान नहीं दिए। वह वीडियो में वह कहते दिख रहे हैं कि “अगर देश के अंदर इतिहास बनाना चाहते हो तो इतिहास नहीं बनना है। अब न यहां तैमूर पैदा होगा, और न ही औरंगजेब, बाबर, हुमायूं पैदा होंगे। हम सब सौ करोड़ हैं, और वो सिर्फ बीस करोड़ हैं। यदि भारत हमारी माता है, तो हम पाकिस्तान के बाप हैं। और इन पाकिस्तानियों को हम यहां किराए पर मकान नहीं देंगे। इनको देश से जल्द निकालो, यह प्रस्ताव पास करो।”

यह भी पढ़ेंशादी के 15 साल बाद आमिर खान और किरण राव ने किया रिश्ता टूटने का ऐलान

रामभक्त ने बयान पर दी सफाई

इस भड़काऊ भाषण पर जब एक न्यूज चैनल ने रामभक्त से बात की तो उसने बताया कि जामिया में उसी ने फायरिंग की थी। और उसे इसका कोई पछतावा नहीं है। उसने कहा कि गलत मैं नहीं वो लोग थे, जो वहां कथित देश विरोधी नारे लगा रहे थे। उस वक्त संविधान के हिसाब से मैं नाबालिग था। फायरिंग करके मैं देश विरोधियों को संदेश देना चाहता था। मैं पिस्टल जेवर से लाया था। जब मैं जामिया पहुंचा तो पुलिस पर हमला हो रहा था, शरजील जैसे राष्ट्र विरोधी उन पर हमला बोल रहे थे।

उसने कहा कि वह किसी संप्रदाय के खिलाफ नहीं है, लेकिन हां, जिहाद और देश विरोधी मानसिकता वाले लोगों के खिलाफ जरूर है। भड़काऊ बयान देने की दलील झूठी है। वह बयान लव जिहाद और धर्मांतरण के खिलाफ था। आखिर में उसने कहा कि अब हिंदू जाग गया है, सभी देश विरोधी लोगों को पाकिस्तान भेज दिया जाएगा। 

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें  Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।  

Leave A Reply

Your email address will not be published.