Monday, May 27, 2024
Homeस्वास्थ्यआयुष्मान योजना के लाभ से मुसीबतें हुई कम

आयुष्मान योजना के लाभ से मुसीबतें हुई कम

 

फिरोजाबाद । चूड़ी कारोबारी मोहम्मद इमरान को पांच साल पहले पेट में दर्द की शिकायत हुई, डॉक्टर को दिखाने ने पर किडनी में 12 एमएम की पथरी मिली, डॉक्टर के सुझाव पर दवा तो करायी, और दर्द भी बंद हो गया, लेकिन 22 दिन पहले पेट में फिर से बहुत दर्द हुआ, डॉक्टर से जाँच के बाद पता चला कि किडनी में अब भी पथरी है, जो बढ़कर 24 एमएम की हो गयी है| डॉक्टर ने तुरंत ऑपरेशन कराने को कहा| मोहम्मद इमरान बताते हैं कि करीब दो साल पहले ही पात्र लाभार्थी होने के नाते उनका आयुष्मान कार्ड बना था| जिसकी मदद से बिना किसी आर्थिक बोझ के वह शहर के एक निजी अस्पताल में पथरी का ऑपरेशन करा पाए| अभी वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं।
शिकोहाबाद निवासी 52 वर्षीय किसान राजेश यादव के लिए आयुष्मान कार्ड किसी वरदान से कम नहीं हैं| पिछले छः माह से वह इसकी मदद से एक निजी अस्पताल में अपना डायलिसिस करवा रहे हैं| राजेश बताते हैं कि वर्ष 2012 से शुगर के चलते उनकी आँखे और किडनी पर प्रभाव पड़ा, पिछले वर्ष डेंगू होने के कारण स्वास्थ्य और भी खराब हो गया। एक साल पहले किडनी फेल होने के कारण वह डायलिसिस पर हैं| छः माह पहले ही उन्हें आयुष्मान पात्र लाभार्थी होने का पता चला, तो उन्होंने कार्ड बनवा लिया| वह बताते हैं कि किडनी ख़राब होने पर अब डायलिसिस ही उनके जीवन का एकमात्र सहारा है| जिसे वह आयुष्मान कार्ड की मदद से ही करवाने में सक्षम हैं|
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नरेंद्र सिंह बताते हैं कि दिन प्रतिदिन आयुष्मान भारत योजना के विस्तार होने से जनपद में योजना का लाभ प्राप्त करने वालों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। उनका कहना है कि योजना का लाभ सभी पात्र लाभार्थियों को उठाना चाहिए।
योजना के नोडल अधिकारी डॉ हंसराज ने बताया कि सीएचओ, पंचायत सहायक, जन सेवा केंद्र तथा आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा गोल्डन कार्ड निशुल्क बनवाए जा सकते हैं। पात्र लाभार्थी गोल्डन कार्ड से प्रतिवर्ष पांच लाख रुपए का मुफ्त उपचार करा सकते हैं।

आयुष्मान योजना में सूचीबद्ध अस्पताल –

मेडिकल कॉलेज पुरुष अस्पताल, महिला जिला अस्पताल, सीएचसी टूंडला, जसराना, सिरसागंज, एका, खैरगढ़, अरांव, धनपुरा, जाटऊ, संयुक्त जिला अस्पताल शिकोहाबाद, रवि यूनिटी हॉस्पिटल, जीवन धारा हॉस्पिटल, ओम हॉस्पिटल, जीवन ज्योति हॉस्पिटल, कीर्ति हॉस्पिटल शिकोहाबाद, सेवार्थ संस्थान ट्रामा सेंटर, जावित्री चैरिटेबल अस्पताल टूंडला, एफएच मेडिकल कॉलेज, सहित दो दर्जन अस्पताल आयुष्मान योजना में चयनित हैं।

– आयुष्मान भारत योजना के तहत इन अस्पतालों में सर्वाधिक लाभार्थियों ने इलाज करा कर लाभ प्राप्त किया

– रवि यूनिटी हॉस्पिटल– 1825 से अधिक
– ओम हॉस्पिटल–
1460 से अधिक
– गीता नेत्र चिकित्सालय– 1450 से अधिक
– सेवार्थ संस्थान प्राइवेट ट्रामा सेंटर–
1115 से अधिक
– मेडिकल कॉलेज–
1150 से अधिक।

योजना के जिला सूचना तंत्र प्रणाली प्रबंधक गौरव शाक्य ने बताया कि योजना की शुरुआत वर्ष 2018 से हुयी थी| तब से अब तक 14019 से अधिक लाभार्थियों ने योजना का सरकारी व प्राइवेट अस्पताल में उपचार करवा कर लाभ प्राप्त किया है।
जिला शिकायत मैनेजर अतुल दीक्षित ने बताया कि आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए आवेदक को सामान्य दस्तावेज आधार कार्ड, अंत्योदय कार्ड, बैंक पासबुक आदि तथा पात्रता की शर्तें पूरी करनी पड़ती हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments