नार्थ दिल्ली नगर निगम एक्शन मोड में , बड़े पैमाने पर महापुरुषों के नामकरण और प्रतिमा लगाने और लोगों से जुड़ने की योजना पर काम शुरू 

-पत्रिका संवाददाता
दिल्ली।  उत्तरी दिल्ली नगर निगम के नेता सदन श्री तिलक राज कटारिया ने अपने कार्यालय डॉ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविक सैंटर में निगम की विशेष व तदर्थ समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक की। इस बैठक में विशेष नियुक्ति पदोन्नति समिति के अध्यक्ष श्री योगेश कुमार वर्मा, निर्माण समिति के अध्यक्ष श्री आलोक शर्मा, उद्यान समिति की अध्यक्षा श्रीमती वंदना जेटली, उच्चाधिकार प्राप्त सम्पत्ति कर समिति की अध्यक्षा श्रीमती गायत्री गर्ग, तदर्थ लाईसैंसिंग व तहबाजारी समिति के अध्यक्ष श्री अनिल कुमार त्यागी, समुदाय सेवा समिति की अध्यक्षा सुश्री अंजू देवी, मलेरिया निरोधक उपाय समिति की अध्यक्षा श्रीमती उर्मिला चौधरी और अनुसूचित जाति के कल्याण मामले समिति के अध्यक्ष श्री सोहन पाल उपस्थित थे।
उपरोक्त जानकारी देते हुए श्री कटारिया ने बताया कि बैठक का मुख्य उद्देश्य समिति अध्यक्षों को उनके समिति के सफल संचालन में किसी भी प्रकार की आ रही कठिनाईयों को दूर करना था। उसके लिए उन्होंने सभी समिति अध्यक्षों से विशेष व तदर्थ  समितियों के अधिकार व कार्य शक्तियों पर चर्चा की और परामर्श दिया कि आप सर्वप्रथम अपनी कार्य योजना तैयार करें और फिर उसे समिति के माध्यम से जनहित में लागू करें।
तिलक राज कटारिया ने  समिति अध्यक्षों को निम्नलिखित सुझाव दिए ;-
1  निगम क्षेत्र के अंदर स्थान चिन्हित कर महापुरूषों की प्रतिमाएं लगवाएं। समुदाय भवनों का नामकरण भी महापुरूषों के नाम पर रखने का कार्य करें तथा उसे निजी बैंक्वेट हॉल जैसी सुविधा देने के लिए हरसंभव प्रयास करें ताकि लोग निगम के समुदाय भवन बुकिंग करने में भी रूचि लंे।
  2 उद्यान सम्बन्धी कार्य हेतु एक्शन प्लान बनाएं जिसमें रेजीडेंट वैलफेयर एसोसिएशनों की भी भागीदारी हो। मालियों की भर्ती तथा जिन उपकरणों की जरूरत है, उसकी व्यवस्था करवाएं।
3 मकानों के यूपिक नं. देने का कार्य पूरा हो रहा है उसके लिए वार्ड वाईज कैंप लगवाएं और उनके रिकॉर्ड व दस्तावेज जमा करवाकर वैरीफाई कराएं ताकि यदि किसी मकान को नोटिस जाए तो उसे यह कहने का मौका न हो कि उनका जो एरिया सर्वे में दिया गया है वह ठीक नहीं है।
4 राजस्व बढ़ाने के लिए नये-नये प्रयोग करें। प्रॉपर्टी टैक्स बढ़ाने में वार्ड स्तर पर कलेक्शन एजेंट व रजिस्टर्ड आर.डब्ल्यू.ए. का सहयोग लेने की योजना बनाएं।
5 कलेक्शन एजेंट की नियुक्ति करें जिसकी जिम्मेदारी करदाताओं से सिर्फ चैक लाने तक की हो, इसके लिए उसे कुछ इंसेंटिव देने का भी प्रावधान रखें।
6 डेंगू को रोकने का स्थायी उपचार करने की योजना बनाए।

Comments are closed.