पकड़ा गया अपनी पत्नी का कातिल

अशोक विहार के वज़ीरपुर गांव इलाके में पुलिस ने एक खुनी को हिरासत में ले लिया।  आज से तक़रीबन 2 महिने पहले अपनी पत्नी का मर्डर करके ये खुनी पति फरार हो गया था और आज पुलिस के हत्थे चढ़ गया है।  इस शख्स का नाम आशीष कुमार है जो 27 साल का है इसने अपनी पत्नी ज्योति के साथ 6 – 7 साल पहले प्रेम विवाह किया था इनकी शादी के खिलाफ इन दोनों का ही परिवार था। पर फिर भी इन दोनों ने  परिवार व समाज की परवाह न करते हुए शादी के बंधन में बंधने का फैसला कर लिया और एक हो गए। इस शादी से उन्हें 3 बच्चे भी हुए जिनमे सबसे बड़ा 5 साल का और उससे छोटा 3 साल का तथा एक बेटी भी है जो एक साल की है। इस सब का चश्मदीद गवाह उसका अपना 5 साल  का बेटा है। 

 
लड़की की माँ ने बताया की आशीष कुमार उनकी बेटी पर शक करता था और रोज़ झगड़ा करता था। इसका कारण था की उनके घर में हत्या से दो महीने पहले एक पैन गेस्ट रखा था जिसको लेकर आशीष अपनी पत्नी ज्योति पर शक करता था। उसको ऐसा लगने लगा था उसकी पत्नी का पैन गेस्ट के साथ नाजायज़  सम्बन्ध है जिसके चलते उसने इस खतरनाक वारदात को अंजाम दिया।  उन्होंने बताया की उनका पांच साल का बेटा वारदात के दिन बहुत रो रहा था। जब उसने जाकर देखा तो उसकी बेटी खून से लथपथ थी ये देखकर उनके होश उड़ गए और उसका बेटा बताने लगा की उसके पिता ने माँ को चाकू मारा है। इस व्यक्ति अपनी पत्नी  का हाथ काटा और उसकी मोके पर ही मोत हो गई। 
 
ये भी बताया जा रहा है की आशीष आर्थिक रूप से बहुत कमज़ोर था जिसकी वजह से वो बहुत परेशान रहता था। और अपनी पत्नी से बार बार उसकी माँ से रूपये मंगवाने के लिए भेजा करता था। और उसका पैन गेस्ट ने भी किराया नहीं दिया था। उसके घर में अक्सर रुपयों  लेकर झगड़ा होता रहता था। अपनी पत्नी का खून करके एक ट्रक में वेस्ट बंगाल ,झारखण्ड , बिहार , उत्तर प्रदेश में घूम रहा था परन्तु आज बदरपुर बॉर्डर के पास से पुलिस ने इस हत्यारे पति को धर दबोचा
 
ये कलयुग ही  है जहाँ एक आदमी ने अपनी प्रेमिका से शादी की और एक नाजायज़ शक के चलते अपनी पत्नी को मौत के घाट उत्तर दिया। व फरार हो गया। ये एक संकीर्ण मानसिकता है जो हमारे समाज में एक बीमारी की तरह घुल गई है। इसके लिए ज़रूरी है बच्चों को बचपन से ही इस प्रकार की स्तिथि से बचने और उसको सुधारने के प्रयत्न जाने चाहिए तभी शायद रिश्तों का क़त्ल नही होगा।   

Comments are closed.