पुलिस और ‘आप’ के बीच टकराव, क्यों केजरीवाल के विधायकों को किया गिरफ्तार ?

दिल्ली।। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के आवास के बाहर सत्ता में काबिज दिल्ली नगर निगम के तीनों मेयरों कई दिनों से चल रहे धरने के जबाब में आज आम आदमी पार्टी के विधायकों ने भी ग्रह मंत्री अमित शाह के घर धरना प्रदर्शन का प्रयाश किया तो दिल्ली पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। दिल्ली पुलिस ने 9 विधायकों और नेताओं को गिरफ्तार भी किया है।

गौरतलब है की कल आम आदमी पार्टी के विधायकों के आवास पर बीजेपी ने नगर निगम के 13 हज़ार करोड़ रुपये देने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया था। इसके जबाब में आम आदमी पार्टी ने भी दिल्ली पुलिस से ग्रह मंत्री के आवास पर प्रदर्शन की अनुमति मांगी थी। दिल्ली पुलिस ने ऐसे सभी नेताओं को हिरासत में ले लिया है जो ग्रह मंत्री आवास पर प्रदर्शन करने निकले थे।गिरफ्तार किये गए नेताओं में किराड़ी से विधायक ऋतुराज भी है। इनके आवला राघव चढ्ढा, आदि नेताओं को भी गिफ्तार किया गया है।

आम आदमी पार्टी के कई नेता भी दिल्ली नगर निगम में ढाई हज़ार करोड़ रुपये के घोटाले की जांच की मांग को लेकर एलजी से भी मिलाने पहुंचे लेकिन उन्हें मिलाने नहीं दिया गया। एलजी आवास पर पहुंचे आप नेता जिनमे विधायक आतिशी मार्लिना, नार्थ एमसीडी में नेता विपक्ष विकास गोयल, खजूरी से निगम पार्षद और ईस्ट दिल्ली नगर निगम में नेता विपक्ष सहित चंद गिने चुने नेता भी पहुंचे थे। वे एलजी से मिलाने पहुंचे थे लेकिन उन्हें अनुमति नहीं मिली थी।

ये भी पढ़ेंविधायक दिलीप पांडेय का विरोधियो को अनूठा आतिथ्य सत्कार

इस पर दिल्ली पुलिस ने उन्हें रोका तो वहां बहस की स्थिति बन गयी। दिल्ली पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेकर मुखर्जी नगर थाने ले आयी। दिल्ली नगर निगम और दिल्ली सरकार के बीच चल रहे सियासी घमासान पर दिल्ली पुलिस के भूमिका पर सवाल उठाये जा रहे है। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली पुलिस पर पक्षपात का आरोप लगाया है।

एलजी आवास पर पहुंचे आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने दिल्ली पुलिस से सवाल किया उपराज्य पाल उनसे क्यों नहीं मिल रहे है। जबकि  दिल्ली पुलिस का कहना था की उन्हें अभी अनुमति नहीं मिली है। जब वे समय देंगे आपको मिलने दिया जाएगा। जबाब में आतिशी मार्लिना ने कहा की जो बीजेपी नेता और मेयर सीएम आवास के बहार धरने पर बिना अनुमति बैठे है उन्हें क्यों नहीं हटाया जा रहा है। दिल्ली पुलिस एक तरफा कैसे हो सकती है। इस बीच आतिशी और नेताओं को हटाने के लिए हुयी हल्की  धक्का मुक्के से आतिशी और नेता विपक्ष गिर गए। इस पर विकास गोयल ने पुलिस महिला पर इस तरह धक्का मुक्की कैसे कर सकती है। दोनों के बीच बहसबाजी इतनी जयादा हुयी की पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया और थाने ले गयी।

ये भी पढ़ेंपेड़ से लटका मिला युवक का शव

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे।

आप हमें Twitter , Facebook पर भी फॉलो कर सकते है।

Comments are closed.