विनाशकारी भुंकंप मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,300

काठमांडो।  नेपाल में शनिवार को तबाही लेकर आए भूकंप के बाद आज एक बार फिर भूकंप के दो तगड़े झटके आए। शनिवार को आए भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,300 हो गई जबकि 5,600 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इस बीच, भारत और नेपाल के अन्य पड़ोसी देश बड़े पैमाने पर राहत और बचाव अभियान चला रहे हैं। शनिवार को आए 7.9 तीव्रता वाले भूकंप से नेपाल में काफी तबाही हुई। एक के बाद एक कर आ रहे भूकंप के झटकों के खौफ से लोगों ने खुले आसमान के नीचे सर्द रात बिताई। लोग अब भी अपने घरों में जाने से डर रहे हैं। गृह मंत्रालय में उपलब्ध ताजा आंकड़ों के मुताबिक, 2,300 से ज्यादा लोग मारे गए हैं और 5,654 घायल हुए हैं। अकेले काठमांडो घाटी में 1,053 लोगों के मारे जाने की सूचना है। अधिकारियों को आशंका है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। जीवित बचे लोगों की तलाश जारी है। आज भी भूकंप के दो जोरदार झटके महसूस किए गए। पहले झटके की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.7 आंकी गई, जबकि दूसरे झटके की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.5 रही। इन झटकों के बाद एक बार फिर लोग खुली जगहों की ओर दौड़ पड़े। भारत सहित कई अंतरराष्ट्रीय टीमें राहत और बचाव के काम के लिए नेपाल पहुंच गई हैं। आपदा के बाद नेपाल में आपातकाल घोषित कर दिया गया है। शनिवार को आए भूकंप को देश के इतिहास में पिछले 80 सालों में आया सबसे भयंकर भूकंप बताया जा रहा है।

 

Comments are closed.