गुस्से की राजनीति गुजरात के हालात की जिम्मेदार: राहुल

श्रीनगर। पटेलों के कोटा आंदोलन के दौरान गुजरात में हुई हिंसा के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए आज राहुल गांधी ने कहा कि यह मोदी की ‘गुस्से की राजनीति’ का नतीजा है। जम्मू-कश्मीर की तीन दिवसीय यात्रा पर आए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने यहां से 25 किलोमीटर दूर स्थित पंपोर शहर के एक गांव में किसानों की रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुस्से की राजनीति कर रहे हैं और ऐसी राजनीति का उल्टा असर होता है जो कि आप गुजरात में देख रहे हैं।’’

राहुल से गुजरात में पटेल समुदाय द्वारा आरक्षण के लिए किए जा रहे आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के बारे में पूछा गया था। इस हिंसा के कारण मंगलवार से अब तक नौ जानें जा चुकी हैं। राहुल ने कहा कि ‘‘गुस्से की राजनीति से सिर्फ मोदी को ही फायदा हुआ है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे चाहते हैं कि लोग लड़ें और गुस्सा फैलाएं। हम सब यह सच जानते हैं। हम (कांग्रेस) मानते हैं कि गुस्से से मोदी जी के अलावा किसी का फायदा नहीं होता। यह देश का, किसानों का, गरीबों का और उद्योगपतियों का फायदा नहीं करता और हमने यह कश्मीर में देखा है।’’ राहुल ने कहा कि कांग्रेस का विश्वास सभी को साथ लेकर चलने में है।

घाटी में 25 साल से चले आ रहे हालात का हवाला देते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि कश्मीर में पिछले कितने ही वर्षों से यह देखा गया है कि हिंसा से किसी का फायदा नहीं होता। भाजपा पर निशाना साधते हुए कांग्रेस के नेता ने कहा कि वे लोगों को गुस्सा दिलाते हैं और चाहते हैं कि वे आपस में लड़ें। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस सभी को सद्भाव के साथ एकसाथ लाना चाहती है।’’ राहुल ने राजग सरकार पर किसान विरोधी होने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘यह सरकार देशभर में किसान-विरोधी है। यह सूट बूट की सरकार है। शुरूआत में हमने सोचा था कि यह सामान्य तौर पर सूट बूट की सरकार है लेकिन अब हमें यह अहसास हो गया है कि यह पांच या 10 लोगों (कारपोरेटों) को ही फायदा पहुंचा रही है।’’ राहुल ने कहा कि वह केसर उत्पादकों के निमंत्रण पर कश्मीर आए थे क्योंकि वे चाहते थे कि ‘‘मैं उनके सामने पेश आ रही समस्याओं को प्रत्यक्ष तौर पर देखूं।’’

 

Comments are closed.