सांसद  मनोज तिवारी का गोद लिया गांव आपके स्वागत के लिये तैयार, अंडरग्राउंड हाईवोल्टेज तार, बस टर्मिनल, कम्युनिटी सेंटर और अस्पताल है इस गांव की खूबियां

पत्रिका संवाददाता, नई दिल्ली।  सोचिये अगर गांवो में खेत के उपर से जा रहे हाईवोल्टेज तार जमीन के अंदर कर दिये जायें और ग्रामीणों की खटिया पर होने वाली मिटिंग एक कम्युनिटी सेंटर में होऔर लोगो को गांव में ही दवा और उपचार मिले इसके लिये गांव में ही अस्पताल खुल जाये तथा युवकों को रोजगार के साधन उपलब्ध कराकर सी सी टीवी और वाईफाई की सुविधा हो तो उस गांव को आप क्या कहेंगे। यही ना कि ऐसा गांव हिन्दुस्तान में नहीं होगा। उत्तर पूर्व दिल्ली के भाजपा सांसद तथा भोजपुरी फिल्मों के मेगा स्टार मनोज तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद पहली बार एक गांव को गोद लिया और अब इस गांव की सूरत और सिरत दोनो बदल गयी है। मनोज तिवारी ने अपने संसदीय क्षेत्र उत्तर पूर्व दिल्ली में ग्राम चौहान पट्टी सभापुर को गोंद लिया है। इस गांव में ६ करोड़ रुपये लगे हैं इसको आदर्श गांव बनाने में । जिसमें हाईटेंशन तार को अंडरग्राउंड करने में एक करोड़ पच्चीस लाख रुपये लगे। इसी तरह बस टर्मिनल और कम्युनिटी सेंटर बनाने में भी अच्छी खाशी रकम लगी। इस गांव के गेट पर आर्कषक रुप से पंडित श्यामाप्रसाद मुखर्जी प्रवेश द्वार भी बनाया गया है। साथ ही गांव में लाईट और प्रकाश की समूचित व्यवस्था की गयी है। इन सब कामों को करने में कुल एक साल तीन महीने लगे। अपने इस गोंद लिये गांव चौहानपट्टी सभापुर को मनोज तिवारी काफी दुलार करते हैं और कहते हैं कि फिलहाल वे गांवों  में सीसीटीवी कैंमरे और वाईफाई लगाने का भी सपना देखते हैं। सांसद मनोज तिवारी कहते हैं इस गांव के लोग दिल के साफ हैं और मेहनती भी । मनोज तिवारी कहते हैं प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी जी के सपनों का गांव बनाने के लिये मैने पहले ही कमर कस लिया था और आज मुझे खुशी है कि जिस गांव को मैने गोंद लिया उसको देखने की चाहत हर किसी की होगी।

Comments are closed.