वेस्ट जला रही फैक्टरियां,वजीरपुर की हवा में जहर

दिल्ली के वजीरपुर इलाके में फैक्टरियों के द्वारा सैकड़ों टन वेस्ट मटेरियल लाकर DDA के खाली ग्राउंड में जलाया जा रहा है जिससे यहां के लोगों का सांस लेना दूभर हो गया है ।  लोंगो को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय लोंगो के मुताबिक़ कूड़े से पटे DDA की खाली जमीन पर हर दूसरे दिन शाम को आग लगती है और काले धुएं को देखते ही इन्हें मजबूरन घर से बाहर निकलना पड़ता है। वेस्ट डिकंपोज के जलने से निकलने वाला धुंआ आसपास रहने वाले लोंगो के स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव डाल रहा है।लोग घुटन भरे वातावरण में सांस लेने को मजबूर हैं। वजीरपुर जानलेवा बिमारियों का सबब बन रहा है। लोग अस्पताल का चक्कर लगाने पर मजबूर है। यहां रहने वाले लोगों की कमाई का ज्यादातर हिस्सा बीमारियों के इलाज में जा रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है की इसकी शिकायत कई बार  प्रशासन और पुलिस से की गयी लेकिन अब तक कोई कार्यवाई नहीं हुई। RWA प्रधान के मुताबिक़ उन्होंने खुद इसकी लिखित शिकायत डीडीए, नगर निगम को की है लेकिन अभी तक समस्या का हल नहीं निकाला गया। उनके मुताबिक़ पुलिस सबकुछ जानते हुए भी दोषियों पर कार्यवाई नहीं कर रही। रोजाना फायर ब्रिगेड की गाड़ियां आकर इसे बुझाती है। फायर ब्रिगेड भी इससे चिंतित है। फायर ब्रिगेड अधिकारियों ने भी इसकी शिकायत सम्बंधित विभागों में की है लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला। यहां तक की NGT को भी ज्ञापन देकर जानकारी दी गयी है। खुले में कूड़ा जलाने की  NGT की सख्त मनाही के बावजूद फैक्टरियां नियमों को धता बताते हुए ये काम कर रही है। लोंगो का कहना है दिल्ली को साफ स्वच्छ बनाने का दावा करने वाली दिल्ली सरकार ऑड-इवन जैसे नियम बनाती है, लेकिन हवा में जहर घोलने वाली फ़ैक्टरियों और कंपनियों पर कार्यवाई को लेकर  गंभीर  नहीं है।

Comments are closed.