“आप ” विधायक वंदना भी डेंगू की चपेट में, मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती 

-पत्रिका संवाददाता
दिल्ली। दिल्ली में न  डेंगू  बीमारी कम  हो रही है और न इस पर राजनीति। दिल्ली विधान सभा की डिप्टी स्पीकर और शालीमार बाग़ से “आप ” विधायक वंदना कुमारी भी डेंगू की चपेट में क्या आयी दिल्ली नगर निगम से लेकर राज्य सरकार और केंद्र सरकार तक पर हमलावर हो गयी।  कहा की प्रशासन विधायक तक की परवाह नहीं कर रहे है।  कुछ कहो तो पुलिस में मुकदमा दर्ज़ करने की धमकी देते है।  बकौल वंदना के पति सज्जन ” साहब हमें डेंगू से इतना डर नहीं लगता जितना अफसरों की धमकी से ” ये न तो काम करते है और ही सुनते है।  कुछ कहो तो पुलिस में मुकदमा दर्ज़ कराकर बंद करने की धमकी देते है।  सज्जन कुमार कहते है की इन अफसरों की धमकी से वंदना काफी डरी हुयी रहती है।
वंदना कुमारी को 15 अगस्त से ही बुखार की शिकायत थी लेकिन शुक्रवार को डेंगू पॉजिटिव पाये जाने के बाद वे तुरंत शालीमार बाग़ के पांच सितारा अस्पताला मैक्स में भर्ती हो गयी। यूँ तो डॉक्टर्स भी सलाह देते है की डेंगू के दौरान प्लेटलेट्स यदि 10 हज़ार से काम हो तभी अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत रहती है।  लेकिन वंदना की प्लेटलेट्स सवा दो लाख से ज्यादा होने के बावजूद भी वे मेक्स जैसे सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में भर्ती हो गयी।
इधर दिल्ली नगर निगम में काबिज बीजेपी इसे “आप ” के नौटंकी मान रही है।  नार्थ दिल्ली नगर निगम स्टेंडिंग कमेटी के चैयरमेन मोहन भारद्वाज ने यह तो माना की  दिल्ली में इस वर्ष डेंगू ज्यादा गंभीर रूप ले रहा है।  लेकिन यह मानाने से इंकार कर दिया की इसके लिए दिल्ली नगर निगम ही जिम्मेदार है।  मोहन भारद्वाज ने आप विधायक वंदना को ही लापरवाह करार देकर उन्हें सलाह दे रहे है की डेंगू का लार्वा साफ़ पानी में पनपता है उन्हें अपने आस पास ध्यान रखना चाहिए।  डेंगू का मच्छर मंत्री और संतरी में भेद नहीं करता।
दिल्ली में डेंगू के सरकारी आंकड़े बेशक कुछ भी कहें लेकिन दावों पर भरोसा किया जाये तो दिल्ली में यह आंकड़ा 1200 के नजदीक पहुंच गया है।  बावजूद इसके दिल्ली नगर निगम और दिल्ली सरकार डेंगू से लड़ने की बजाये आपस में भिड़ रहे है।  जाहिर है ऐसे में जैसे जैसे डेंगू का प्रकोप बढ़ेगा इस पर पलिटिक्स भी बढ़ेगी।
Rajender Swamy
Delhi Aaj Tak
9811609522

Comments are closed.