Monday, April 15, 2024
Homeअपनी पत्रिका संग्रह1958 से अब तक दिल्ली एमसीडी में कब कब मेयर बनी हैं...

1958 से अब तक दिल्ली एमसीडी में कब कब मेयर बनी हैं महिलाएं, जानिए कौन हैं नवनिर्वाचित मेयर शैली  शैली ओबेरॉय

नई दिल्ली, 23 फरवरी। 2023 में आम आदमी पार्टी की शैली ओबेरॉय दिल्ली एमसीडी की नयी मेयर बनीं हैं। वो मेयर बनने वाली दूसरी महिला हैं। उसने पहले स्वतंत्रता सेनानी अरुणा आसफ अली वर्ष 1958 में दिल्ली नगर निगम की पहली महिला मेयर बनी थीं।

दिल्ली नगर निगम मेयर चुनाव में आम आदमी पार्टी की शैली ओबरॉय ने जीत दर्ज की है। इसी के साथ दिल्ली को नया मेयर मिल गया है। इससे पहले स्वतंत्रता सेनानी अरुणा आसफ अली वर्ष 1958 में दिल्ली नगर निगम की पहली महिला महापौर बनी थीं। उनके नाम पर ही सदन कक्ष जिसमें महापौर का चुनाव हुआ का नाम अरुणा आसफ अली सभागार रखा गया। दिल्ली नगर निगम, अप्रैल 1958 में अस्तित्व में आया था। हालांकि, वर्ष 1860 के दशक में ही पुरानी दिल्ली के ऐतिहासिक टाउन हॉल से इसकी शुरूआत हुई थी और अप्रैल 2010 में इसे सिविक सेंटर स्थानांतरित कर दिया गया था।

कौन हैं शैली ओबरॉय

नवनिर्वाचित शैली ओबरॉय की बात करें तो शैली ने 2013 में आप ज्वाइन किया था। आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी डॉ। शैली ओबेरॉय ने बीजेपी की रेखा गुप्ता को एमसीडी मेयर चुनाव में शिकस्त दी। 39 साल की डॉक्टर शैली ओबेरॉय दिल्ली के वार्ड नंबर 86 पटेल नगर पश्चिमी दिल्ली से निर्वाचित पार्षद हैं। 2022 दिल्ली एमसीडी चुनाव में उन्होंने बीजेपी के गढ़ में निकटतम प्रतिद्वंदी बीजेपी की दीपाली कुमारी को 269 वोटों से हराकर जीत हासिल की थी। युवा महिला नेता के रूप में डॉक्टर शैली ओबरॉय ने सबसे पहले 2013 में आम कार्यकर्ता के रूप में आम आदमी पार्टी को ज्वाइन किया। इसके बाद उन्होंने पार्टी में महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष पद को भी संभाला। पार्टी संगठन के लिए हमेशा तत्पर रहने वाली और एक अच्छे वक्ता के रूप में इनकी पार्टी में पहचान है।दिल्ली की राजनीति में सक्रियता से पहले शैली ओबेरॉय दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर थी। इसके अलावा वह भारतीय वाणिज्य संघ की लाइफ टाइम मेंबर भी है। शैली ओबरॉय ने अपनी पीएचडी तक पढ़ाई पूरी की है, उन्होंने स्कूल ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज से भी पढ़ाई की है।

आपको बता दें एमसीडी के चुनावों के बाद हुए हुई तीन बैठकों में हगांमें के चलते मेयर चुनाव नहीं हो पाया था। इसकी वजह से पहले साल के मेयर का कार्यकाल कम हो गया है। दरअसल एमसीडी एक्ट के अनुसार दिल्ली नगर निगम का साल अप्रैल महीने के पहले दिन से शुरू होता है। इस तरह अगले साल 31 मार्च को साल समाप्त हो जाता है। इस लिहाज से 22 फरवरी को शैली ओबेरॉय मेयर चुनी गई हैं, जिनका कार्यकाल 31 मार्च को खत्म हो जाएगा। इस तरह से वो सिर्फ 38 दिनों तक ही मेयर पद पर रहकर काम-काम कर सकेंगी। इसके बाद दोबारा से एक अप्रैल को मेयर का चुनाव होगा।

बता दें कि दिल्ली नगर निगम का पहला साल महिला मेयर के लिए आरक्षित है, जबकि इस बार एमसीडी में परिसीमन के बाद काफी कुछ बदलाव हुआ है। पहले तीन मेयर की ओर से दिल्ली नगर निगम की कमान संभाली जाती थी, लेकिन इस बार एक मेयर पर पूरी दिल्ली के निचले सदन को चलाने की जिम्मेदारी होगी। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी से मेयर शैली ओबेरॉय के सामने दिल्ली के बुनियादी सुविधाओं से लेकर एलजी और बीजेपी से तालमेल बिठाकर राजधानी की तस्वीर को बदलने की बड़ी चुनौती होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments