130 विधायकों के साथ दिल्ली आएंगे नीतीश

पटना। जदयू विधायक दल के नए नेता नीतीश कुमार ने बिहार में सरकार बनाने का न्योता मिलने में हो रही देरी पर सवाल उठाते हुए आज कहा कि यदि राज्यपाल की ओर से कोई जवाब नहीं आता है तो उनकी पार्टी की योजना समर्थन कर रहे सभी 130 विधायकों को सशरीर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के समक्ष पेश करने की है। पटना के 7 सकुर्लर रोड स्थित अपने आवास पर आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए नीतीश ने उपरोक्त बात कही। उन्होंने कहा कि विधायकों के साथ वह आज शाम दिल्ली रवाना होंगे। उन्होंने कहा कि इन सभी विधायकों को वह सोमवार को राजभवन ले गए थे और गत आठ फरवरी को ही उनके समर्थन का पत्र सौंप दिया था। ऐसे में उसमें अध्ययन करने के लिए क्या बचा है। देरी का कोई औचित्य नजर नहीं आता। राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी द्वारा उन्हें सरकार बनाने का न्योता देने में की जा रही देरी पर सवाल खड़ा करते हुए नीतीश ने कहा कि साफ तौर पर विधायकों ने परेड किया। हमारे पास बहुमत है। अन्य समर्थन देने वाली पार्टियों राजद, कांग्रेस, भाकपा और एक निर्दलीय विधायक का समर्थन पत्र सौंपने के साथ सब लोग सड़क पर उतरे। उसके बावजूद इस तरह मामले को लटकाकर रखा जा रहा है। मतलब साफ है विधायकों की खरीद-फरोख्त को बढावा दिया जा रहा है।


Comments are closed.