सुनंदा मामले की जांच में दबाव नहीं: राजनाथ

नई दिल्ली।  सुनंदा पुष्कर की मौत की जांच में किसी प्रकार के राजनीतिक दबाव से इंकार करते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि दिल्ली पुलिस निष्पक्ष जांच कर रही है। राजनाथ सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा, ”कोई राजनीतिक दबाव नहीं है। निष्पक्ष जांच हो रही है। हमारी तरफ से कोई निर्देश नहीं है।’’ सिंह कांग्रेस सांसद शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की पिछले वर्ष जनवरी में रहस्यमय परिस्थितियों में हुई मौत की जांच के संबंध में किए गए सवालों के जवाब दे रहे थे। थरूर ने हाल ही में जांचकर्ताओं पर कोई राजनीतिक दबाव डाले बिना इस मामले की निष्पक्ष एवं त्वरित जांच की मांग की थी। कांग्रेस ने सोमवार को कहा था कि थरूर के खिलाफ भ्रामक प्रचार अभियान चलाया जा रहा है और इस बात पर जोर दिया कि थरूर इस मामले में आरोपी नहीं हैं। गृह मंत्री ने आज कहा, ”दिल्ली पुलिस जो भी करती है, निष्पक्ष तरीके से करती है।’’ दिल्ली पुलिस ने सुनंदा की मौत के मामले में एम्स मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर एक जनवरी को भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया है। रिपोर्ट में निष्कर्ष निकाला गया है कि सुनंदा की मौत अप्राकृतिक और जहर देने के कारण हुई थी लेकिन रिपोर्ट में जहर की प्रकृति और मात्रा का उल्लेख नहीं है। दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने कहा था कि मामले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल एक निर्णायक कार्ययोजना के अनुसार काम कर रहा है और जो भी जरूरी है किया जा रहा है। थरूर से पूछताछ किए जाने की संभावना के बारे में बस्सी ने कहा था, ”जब भी उन्हें (एसआईटी) किसी व्यक्ति विशेष से पूछताछ की जरूरत होती है, वे उस व्यक्ति को बुला रहे हैं। मुझे विश्वास है कि वे इस जांच में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या एसआईटी मामले में अन्य लोगों के बयानों के संबंध में थरूर से सवाल जवाब करेगी, बस्सी ने कहा था कि वह यह कयास नहीं लगाना चाहेंगे कि एसआईटी क्या करेगी। उन्होंने कहा था, ”लेकिन मैं आपको आश्वासन दे सकता हूं कि एसआईटी बेहद वैज्ञानिक तरीके से आगे बढ़ रही है। बहुत सी बातें लिखी और कहीं गयी हैं (मीडिया में) जो हो सकता है कि सही हों या हो सकता है कि सही नहीं हों। हमारे साथ सहयोग करें, हो सकता है कि मैं आपको अगले दो तीन दिन में कुछ बताने में सक्षम होउं।


Comments are closed.