रोहतक छेड़छाड़ मामला: बस ड्राइवर, कंडक्टर बहाल

चंडीगढ़ हरियाणा सरकार ने रोडवेज की उस बस के ड्राइवर और कंडक्टर को आज फिर से बहाल कर दिया जिसमें कॉलेज जाने वाली दो बहनों के साथ तीन युवकों ने कथित तौर पर छेड़खानी की थी। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने यहां बताया कि हरियाणा रोडवेज की बस के ड्राइवर बलवान सिंह और कंडक्टर लाभ सिंह दोनों को तत्काल प्रभाव से फिर से बहाल कर दिया गया है। दोनों के खिलाफ विभागीय जांच लंबित है।

एक अधिकारी ने बताया कि हरियाणा परिवहन विभाग के महानिदेशक ने सोमवार को दोनों को निलंबित करने का आदेश जारी किया था। सोशल मीडिया और न्यूज चैनलों पर लड़कियों द्वारा तीनों लड़कों की पिटाई का वीडियो आने के कुछ घंटे बाद हरियाणा रोडवेज महाप्रबंधक, सोनीपत ने निलंबन का आदेश दिया था। ऐसा आरोप है कि तीन युवकों- कुलदीप, मोहित और दीपक ने पिछले शुक्रवार रोहतक-सोनीपत रोड पर चलती बस में दोनों बहनों से छेड़खानी की थी। घटनाक्रम के अनुसार दोनों बहनें छेड़खानी करने वालों से भिड़ गईं और इनमें से एक लड़की ने अपनी बेल्ट से युवकों को पीटा। इस दौरान अन्य यात्री इस पूरे प्रकरण के मूक दर्शक बने रहे।

दोनों लड़कियों के अभिभावकों की ओर से दर्ज करायी गयी प्राथमिकी के बाद तीनों युवकों को रविवार को गिरफ्तार किया गया। बस में सवार एक यात्री ने इस पूरे वाकये को अपने मोबाइल फोन पर रिकार्ड कर लिया और यह टेलीविजन और सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसमें साफ दिख रहा है कि दोनों बहनें हाथ और बेल्ट से लड़कों को पीट रही हैं और लड़के एकदम हक्के बक्के हैं। बहरहाल, बाद में उसी बस में यात्रा कर रही आसन गांव की चार महिलाओं ने रोहतक के सदर पुलिस थाने में शपथ पत्र देखकर कहा कि लड़कों ने लड़कियों के साथ छेड़खानी नहीं की थी।


Comments are closed.