मुठभेड़ में 3 आतंकवादियों और एक सैनिक की मौत

जम्मू । सुरक्षा बलों और उग्रवादियों के बीच आज हुई भीषण मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया जबकि एक सैनिक जवान भी शहीद हो गया। कुछ अन्य लोग घायल हुए हैं। राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर एक घुसपैठ नाकाम होने पर उग्रवादी अरनिया सीमा सेक्टर में छिप गए, उसके बाद यह मुठभेड़ हुई। यह मुठभेड़ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए कल होने वाली जम्मू क्षेत्र की यात्रा से पहले हुई है। पुलिस के अधिकारी ने बताया, “शुरूआती रिपोर्टों के अनुसार, दो से चार की संख्या में उग्रवादियों के समूह ने जम्मू जिले की अरनिया पट्टी से घुसपैठ की और गोलीबारी करने लगे।’’

उन्होंने कहा कि सेना, बीएसएफ और पुलिस तुरंत हरकत में आई और आज सुबह उग्रवादियों की तलाश का अभियान शुरू कर दिया। सैन्य सूत्रों ने बताया कि उग्रवादियों ने जम्मू जिले के अरनिया सीमा सेक्टर के पिन्डी खट्टर पट्टी में सेना के खाली पड़े एक बंकर पर कब्जा कर लिया। उन्होंने कहा, “बंकर सेना की 92 इंफेंट्री ब्रिगेड का था। इसके बाद एक भीषण मुठभेड़ शुरू हो गई। सुरक्षा बलों ने चार में से तीन आतंकवादियों को मार गिराया है। मुठभेड़ में एक जवान भी मारा गया और एक नागरिक सहित तीन अन्य जख्मी हो गए।’’

क्षेत्र से एक कार भी जब्त की गई है जिसका इस्तेमाल उग्रवादियों द्वारा किया गया हो सकता है। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राजौरी जिले के लाम बटालियन इलाके में नियंत्रण रेखा के पास लेहारान कंपनी ऑपरेटिंग बेस में सैनिकों ने आज सुबह करीब साढ़े छह बजे संदिग्ध हरकतें महसूस कीं। उन्होंने बताया कि सुरक्षाकर्मियों ने तत्काल कार्रवाई कर घुसपैंठ की कोशिश नाकाम कर दी।


Comments are closed.