भारत में बदलाव लाने में योगदान दें NRI: सुषमा

गांधीनगर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रवासी भारतीयों से ‘मेक इन इंडिया’ और ‘स्वच्छ भारत’ जैसी सरकारी पहल में निवेश के जरिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच के अनुरूप देश में बदलाव लाने में योगदान करने की आज अपील की। 13वें प्रवासी भारतीय दिवस के शुभारंभ पर सुषमा ने कहा कि भारत में प्रवासी भारतीयों के लिए निवेश और कारोबार करना सरल बनाने के लिए सरकार कई पहल कर रही है।

अपने उद्घाटन संबोधन में विदेश मंत्री ने कहा, ”आने वाले कुछ वर्षों में विदेशी निवेश जरूरी है.. हम आपसे, युवा प्रवासियों से चाहते हैं कि वे भारत के विकास में योगदान करें। हम चाहते हैं कि आप भारत के भविष्य के बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच में साझेदार बनें।’’ सुषमा ने कहा, ”हमने कई पहलों को आगे बढ़ाया है जिसमें भारत को बदलने की क्षमता है।’’ उन्होंने कहा, ”आइए, जुड़ें और भारत में बदलाव का उत्सव मनायें और इसमें योगदान करें।’’ विदेश मंत्री ने कहा कि सरकार ने मेक इन इंडिया, जन धन योजना, स्वच्छ गंगा अभियान, स्वच्छ भारत अभियान जैसे कई कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया है और बड़े बदलाव का वादा किया है लेकिन इनमें से कई में निवेश की जरूरत है।

सुषमा ने कहा, ”कारोबार करने के माहौल को बेहतर बनाने के लिए सरकार ने प्रक्रियाओं को सरल बनाने, नियमों को व्यवहारिक करने और प्रौद्योगिकी का उपयोग बढाने जैसे कई कदम उठाये हैं। ऐसे गैर-जरूरी कानूनों की पहचान करने के प्रयास किये जा रहे हैं जिन्हें समाप्त किये जाने की जरूरत है।’’ उन्होंने कहा, ”आधारभूत संरचना और बुनियादी ढांचे में वित्त पोषण पर स्पष्ट तौर पर ध्यान दिया जा रहा है।’’ उन्होंने वादा किया कि सरकार उच्च स्तर की पारदर्शिता और ईमानदारी के लिए प्रतिबद्ध है।

विदेश मंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था में नयी विविधता आई है और केंद्र में मजबूत सरकार बनने से ‘निवेश अनुकूल पहल’ के कारण इसमें उत्साह बढ़ा है। उन्होंने कहा, ”सरकार मिशन के रूप में काम कर रही है और आप इसमें योगदान कर सकते हैं और हिस्सा बन सकते हैं।’’ 13वां प्रवासी भारतीय सम्मेलन ऐसे समय में हो रहा है जब महात्मा गांधी के 1915 में दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटने के 100 वर्ष भी पूरे हो रहे हैं।

स्वतंत्रता आंदोलन में महात्मा गांधी के योगदान का जिक्र करते हुए सुषमा ने कहा कि देश के विकास में योगदान करने से पहले युवाओं के लिए यह जानना जरूरी है कि देश किन किन समस्याओं का सामना कर रहा है। उन्होंने प्रवासी युवाओं से देश की समृद्ध धरोहर का उत्सव मनाने की अपील करते हुए ‘शून्य’, चिकित्सा, आयुर्वेद और उच्च शिक्षा में भारतीयों के योगदान का जिक्र किया।

युवा मामलों के राज्य मंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने प्रवासी युवाओं से परिवार के महत्व समेत भारतीय मूल्यों का संरक्षण करने को कहा। उन्होंने कहा कि स्थिर परिवार ही स्थिर समाज का निर्माण करता है जिससे देश स्थिर और मजबूत बनता है।


Comments are closed.