भारत में आईएसआईएस का प्रभाव नगण्यः राजनाथ

नई दिल्ली।  दुनिया के कई देशों में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) का प्रभाव बढ़ने का जिक्र करते हुए सरकार ने आज स्पष्ट किया कि भारत में इसका प्रभाव नगण्य है और अल्पसंख्यक समुदाय में माता पिता अपने बच्चों को इस संगठन के प्रति हतोत्साहित और सजग कर रहे हैं जो अत्यंत सराहनीय है। लोकसभा में मुल्लपल्ली रामचंद्रन एवं अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्न के उत्तर में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जहां तक आईएसआईएस का प्रश्न है, दुनिया में इसके प्रभाव के विषय पर हमने ध्यान दिया है। भारत में इसका प्रभाव.. मैं कह सकता हूं कि नगण्य है। सिंह ने कहा, ”हम अपने देश के अल्पसंख्यक समुदाय के आभारी हैं कि उन्होंने इसे (आईएस) हतोत्साहित किया है। दुनिया के देश फ्रांस, ब्रिटेन, अमेरिका आदि में वहां परिवार भले ही इसे (आईएस) प्रोत्साहित कर रहे हों लेकिन भारत में अल्पसंख्यक परिवार इसे हतोत्साहित करने का काम कर रहे हैं।’’ सदस्यों ने मेज थपथपा कर इसका स्वागत किया। गृह मंत्री ने कहा, ”भारत में आईएसआईएस को प्रतिबंधित किया गया है। इसे गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम संशोधन कानून और संयुक्त राष्ट्र के तहत प्रतिबंधित सूची में रखे गए संगठन के तहत भी प्रतिबंधित किया गया है। मंत्री ने कहा कि आईएसआईएस की गतिविधि पर लगाम लगाने के लिए प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर अनजाने में किसी निर्दोष को पकड़े जाने की जानकारी सदस्य को मिलती है तब वह उन्हें इसके बारे में बता सकते हैं और वह इस पर संज्ञान लेंगे।


Comments are closed.