नाबालिग सहायिका से दुष्कर्म

हमारे देश में कही तो लड़किओं  को लक्ष्मी का रूप मान कर पूजा जाता है और कहीं इन्ही लक्ष्मियों के साथ दुष्कर्म करा जाता है। भारत में लगभग 93 महिलाओं के साथ रोज़ाना दुष्कर्म होते है जिनमें नाबालिग लड़कियां भी शामिल हैं।
गांवों झांडसा (गुडगांवा ) में परिवार के साथ रहने वाली  नाबालिग के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है।  पीड़िता आस पास के इलाकों में साफ़ सफाई का काम करती है।
पड़ोस में रहने वाला बेनूकर हल्दर मंगलवार की दोपहर जबरन घर में घुस आया और नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया।
फ़िलहाल तो सदर थाना पुलिस ने एफ.आई.आर दर्ज कर ली है और मामले की जाँच चल रही है।
लेकिन सवाल यह उठता है की अभी भी लोग अपने घरों में नाबालिगों से काम कराते हैं।  जबकि सभी इस बात से पूरी तरह वाकिफ हैं की बाल मज़दूरी भारत में एक अपराध है, जिसके सामने आने पर बाल मज़दूरी करवाने वाले व्यक्ति को सजा हो सकती है और भारी जुरमाना भी वसूला जा सकता है।

Comments are closed.