Sunday, July 21, 2024
Homeअपराधऑनलाइन शादी ही नहीं तलाक भी होता है

ऑनलाइन शादी ही नहीं तलाक भी होता है

ऑनलाइन शादी तो आप सभी ने सुनी ही होगी लेकिन क्या आपने कभी ऑनलाइन तलाक के बारे में सुना है ? आजकल यह बात आम हो गई है लोग वाट्सअप, फेसबुक, ईमेल पर तलाक देने लगे हैं। हम सब इस बात से तो परिचित थे ही की आगे आने वाला समय डिजिटल होगा पर इतना होगा ये कभी सोचा भी नहीं था। अभी हाल ही में एक मुस्लिम परिवार की बेटी को एस.एम.एस पर तलाक मिला है, उसके पति ने उसे तीन बार तलाक लिख कर भेजदिया।
जैसा की हम सब जानते ही हैं की इस्लाम में जितना आसान है शादी करना है उतना ही आसान तलाक देना है, वैसे तो कई शर्ते हैं लेकिन अगर लगातार तीन बार तलाक कहा तो तलाक हो जाती है।
इस दंपत्ति की आठ सालों से कोई औलाद नहीं थी। इसी कारण पती अपनी बीवी को मरता पीटता था, इस बात से परेशान होकर पत्नी अपने मायके चली गई और पती ने गुस्से में आकर उसे तलाक का एस.एम.एस कर दिया।
इस्लाम धर्म में ऐसे तलाक देने से तलाक हो जाती है इसलिए अब यह दंपत्ति साथ नहीं रह सकते।
महिला का कहना है की उसका पती उसे अपनी मेडिकल रिपोर्ट्स नहीं दिखता जबकि महिला की रिपोर्ट्स नॉर्मल हैं।
वज़ीरपुर गाँवो में रहने वाले एक दंपत्ति शाहिदा और शादाब (काल्पनिक नाम) के बिच भी ऐसी ही परिस्थिति आगई, शादाब ने शाहिदा को तलाक देदी और अब अपने फैसले पे पछता  रहा है।  लेकिन इस्लाम में ऐसी गलती की कोई जगह नहीं है।
सूत्रों के अनुसार तलाक के बाद अपने पती के साथ रहना इस्लाम के खिलाफ है, ऐसे हालात में पहले लड़की को किसी और से शादी करनी पड़ेगी फिर उससे तलाक लेकर अपने पति से दोबारा निकाह कर सकती है।
लेकिन शाहिदा के साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ उसने दूसरी शादी तो करली लेकिन उसके दूसरे पती ने उसे अब तलाक देने से मना कर दिए।  अब सवाल उसके बच्चों का भी आ खड़ा हुआ है।
अब सवाल ये उठता है की क्योँ इन बातों को इतना आम बना लिया गया है, क्या धर्म को मज़ाक समझने लगे हैं लोग जो इस तरह की गलत बातें समाज में फ़ैल रहें है।
जबकि इस्लाम धर्म में तलाक लफ्ज़ को मज़ाक में भी बोलना सख्त मना है, फिर क्यों लोगों ने इसे मज़ाक बना लिया, छोटी छोटी बातों के लिए अपने हमसफ़र का साथ हमेशा के लिए छोड़  देना सही है ? क्या इसकी एक वजह अनपढ़ होना भी है या लोगों को अब भी अपने मज़हब की पूरी जानकारी है ही नहीं।
ऐसी स्थिति में महिलाओं की सुरक्षा का ज़िम्मा कौन लेगा क्या महिलाएं इसी डर की वजह से अपना अधिकार मांगने से डरतीं हैं।
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments