Monday, May 27, 2024
Homeअपराधआईएस डीके रवि की मौत पर सियासत तेज,

आईएस डीके रवि की मौत पर सियासत तेज,

भाजपा सीबीआई जांच पर अड़ी, कांग्रेस ने कहा मांग जायज नही
कर्नाटक में आईएएस अधिकारी डीके रवि की मौत पर अब सियासतदान अपनी रोटी सेंकने की जुगात में पड़े हैं । राज्य सरकार के सीबीआई जांच से इनकार के बाद भाजपा सीबीआई जांच की बात पर अड़ी हुई है । अपनी इस मांग को लेकर विपक्ष के कई विधायक रात भर विधानसभा में ही रुके रहे । इस दौरान रात में मुख्यमंत्री ने इन विधायकों को मनाने की कोशिश भी की, लेकिन वह नहीं माने ।
मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा, ‘यह आत्महत्या है या हत्या या उनकी किसी और वजह से मौत हुई है, हम भी सच्चाई जानना चाहते हैं । लोगों को इस बारे में जानना चाहिए ।’ सिद्धारमैया ने कहा कि सिटी पुलिस भी इसकी जांच करने में सक्षम है । उन्होंने विपक्ष की ओर से विरोध प्रदर्शन के बीच कहा कि मामले की जांच सीआईडी करेगी और ‘वह सचाई सामने लाएगी। हम निष्पक्ष जांच कराएंगे।
वहीं दूसरी ओर इस घटनाक्रम के मद्देनजर केंद्रीय मंत्री और पूर्व कर्नाटक के मुख्यमंत्री सदानंद गौड़ा ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ से मिलकर डीके रवि की सदिग्ध मौत की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। डीके रवि की मौत पर भाजपा की सीबीआई जांच की मांग पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पीसी चाको ने कहा कि राज्य सीआईडी इसकी जांच पूरा करने में सक्षम इस मामले में सीबीआई जांच की मांग जायज नहीं है।
दरअसल, कथित तौर पर आत्महत्या करने वाले आईएएस अधिकारी डीके रवि के पैतृक गांव कुनिगल में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया । रवि का पोस्टमॉर्टम बेंगलुरु के विक्टोरिया अस्पताल में किया गया, जहां मुख्यमंत्री सिद्धारमैय्या मौजूद थे । बाद में बेंगलुरु के नगर भावी में उनका पार्थिव शरीर रखा गया, जहां कोलार और दूसरे शहरों से आए उनके लोगों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। रेत और भू-माफियाओं से सीधे टक्कर लेने वाले रवि ने कल सुबह कार्यालय से घर लौटने के बाद अपने सरकारी आवास में कथित तौर पर पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली थी । कर्नाटक में टैक्स फर्जीवाड़े का पर्दाफाश करने वाले आईएएस की संदिग्ध हालत में मौत के बाद कोलार जिले में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हुए डीके रवि कोलार में काफी लोकप्रिय थे ।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments