अन्धविश्वास के चलते काली माता के मंदिर में खुद की बली देने की कोशिश

दिल्ली के भारत नगर इलाके में रहने वाले शंकर चौधरी पर काली माता की भक्ति का जूनून ऐसा सवार हुआ की वो अपनी ही जान देने से नहीं चूका और अपने परिवार की चिंता ना करते हुए उसने माता के चरणों में अपनी ही बली देने की कोशिश करी। 
शंकर काली माता का भक्त है उसका कहना है की माता उसके अंदर प्रवेश करती है और उसकी बली भी काली माता ने ही मांगी थी।  21 वर्ष का शंकर बिहार का रहने वाला है और अपनी पत्नी और एक डेढ़ साल के बेटे आयुष के साथ किराए से भारत नगर में ही रहता है।  
रोज़ की तरह सुबह 9 बजे के आस पास शंकर काम प जाने के लिए घर से निकला था और घर के पास बने काली माता के मंदिर में पूजा कर रहा था, इसी दौरान उसने अपनी बली देने की कोशिश करी। 
सूत्रों के अनुसार वह घर से नारियल छीलने वाला चाकू और निम्बू लेकर आया था। शंकर रोज़ ही दो से तीन घंटे इस मंदिर में पूजा और तंत्र साधना करता था इसलिए आस पास के लोगों ने ध्यान नहीं दिया। 
 
डॉकटरों की माने तो अब शंकर खतरे से  बाहर है क्योंकि उसने खुद अपने गले पर चाकू फेरा और  ठीक से काट नहीं सका, उसके गले पर लगभग 3 cm का घाव है। शंकर को पहले पास के  सुंदरलाल जैन अस्प्ताल में लेजाया गया फिर वहां से उसे ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया। 
 
देश की राजधानी दिल्ली में अन्धविश्वाश की ऐसी  घटना चौंकाने वाली है। शंकर का इलाज ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है। उसकी हालत बेशक खतरे से बहार बताई जा रही हो लेकिन उसके सामान्य होने में वक़्त लगेगा। भारत नगर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Comments are closed.