Friday, April 12, 2024
Homeअन्यदेश में फिर से होगा बड़ा किसान आंदोलन

देश में फिर से होगा बड़ा किसान आंदोलन

अपनी पत्रिका ब्यूरो
देश में फिर से एक बड़ा आंदोलन शुरू होने जा रहा है। दिल्ली के रामलीला मैदान में हुई किसान महापंचायत में जिस तरह से किसान आंदोलन का चेहरा बन चुके राकेश टिकैत ने कहा कि कहा कि क्या केंद्र सरकार चाहती है कि पिछले आंदोलन से बड़ा आंदोलन हो। आजादी की लड़ाई का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वजों ने तो वह आंदोलन देखा है कि जिसमें पेड़ों पर ही फांसी दे दी जाती थी। उन्होंने किसानों से बड़े बलिदान के लिए तैयार रहने के लिए कहा है।

राकेश टिकैत ने कहा है कि वह पूरे देश में घूमे। उन्हें जो फीडबैक विभिन्न जिलों से मिला है उसके आधार पर कह सकते हैं कि केंद्र सरकार की निगाह किसानों की जमीन पर है। कई जिलों में जबरदस्ती किसानों की जमीन लिखवा ली जा रही है। किसान नेता डॉ. सुनीलम ने कहा है कि अब समय आ गया है कि केंद्र सरकार से दो-दो हाथ कर किये जाएं। उन्होंने कहा कि इस सरकार को किसानों की नहीं बल्कि अडानी की चिंता है। दरअसल एसकेएम के नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर से मिला था। उन्होंने किसानों ने कहा कि आप लोग आंदोलन कीजिए। कृषि मंत्री की इस बात से किसान नाराज हैं। उनका कहना है कि केंद्र सरकार किसानों के आंदोलन को कोई भाव नहीं दे रही है और आंदोलन करने के लिए उकसा रही है। किसान नेता राकेश टिकैत ने मंच से बड़े आंदोलन होने का ऐलान कर दिया है।


किसान नेता दर्शन पाल सिंह ने भी किसानों से बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार एक ओर उनकी मांगें नहीं मान रही है और दूसरी ओर जो वादा खिलाफी किसानों से की गई है उसका भी कोई मलाल केंद्र सरकार को नहीं है। मेधा पाटकर ने कहा है कि केंद्र सरकार ने किसानों से वादाखिलाफी की है।
दरअसल गत साल जब १३ महीने तक किसान आंदोलन हुआ तो खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे आकर देश से माफी मांगते हुए किसानों की सभी मांगें मांगने की बात कही थी। अब किसान नेताओं का कहना है कि सरकार के वादे पर उन्होंने आंदोलन खत्म कर दिया था पर सरकार उन मांगों को नहीं मान रही है। आंदोलन में एमएसपी गारंटी कानून की मांग मुख्य रूप से रहेगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments