शमी हुए यो-यो टेस्ट में फेल, नवदीप सैनी को मिला पहली बार टेस्ट टीम में मौका

-पीयूष खुल्लर

मुश्किलों के दौर से गुज़र रहे भारतीय तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद शमी सोमवार को यो-यो टेस्ट की फिटनेस परीक्षा में फेल हो गए। उनकी जगह दिल्ली के युवा तेज़ गेंदबाज़ नवदीप सैनी को टेस्ट टीम में पहली बार मौका मिला हैं। सैनी को अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ 14 जून से शुरू हो रहे एकमात्र टेस्ट के लिए टीम में शामिल किया गया हैं। बेंगलुरु रवाना होने से पहले दिल्ली एयरपोर्ट से नवदीप ने कहा कि टेस्ट कैप मिलना बेहद सम्मान की बात हैं। प्रत्येक क्रिकेटर का सपना होता है कि वह भारतीय टीम में खेले।

नवदीप ने कहा कि टी-20 व वन डे के बाद सबसे बड़ी चाहत होती है कि टेस्ट में भी मौका मिले। टेस्ट में ही खिलाड़ी की असली टेस्ट होता है। सैनी को आइपीएल में आरसीबी ने तीन करोड़ रुपये में खरीदा था, लेकिन उन्हें मैच खेलने का अवसर नहीं मिला। इस पर नवदीप ने कहा कि मैच नहीं खेलने की वजह से उनके मनोबल पर कोई असर नहीं पड़ा।

27 वर्षीय शमी पर हाल ही में उनकी पतनी हसीन जहां ने घरेलु हिंसा का आरोप भी लगाया था। शुरुवात में बीसीसीआई ने शमी को केंद्रीय अनुबंध की सूची से भी बाहर कर दिया था, लेकिन बाद में बीसीसीआई ने दोबारा जांच कर उन्हें क्लीन चिट दे दी।

नवदीप सैनी को घरेलु सर्किट में सबसे तेज़ गेंदबाज़ों में से एक माना जाता हैं। पिछले दो रणजी ट्रॉफी के सत्र में अच्छे प्रदर्शन के बाद उन्हें भारतीय टीम के भविष्य का तेज़ गेंदबाज़ माना जा रहा हैं। 25 वर्षीय सैनी ने अब तक 31 प्रथम श्रेणी मैचों में 96 विकेट हासिल किये हैं।

Comments are closed.