भारत को फिर से विश्व गुरू बनाने का संकल्प ले – पुनरूत्थान ट्रस्ट

नई दिल्ली। पुनरूत्थान ट्रस्ट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नरेंद्र नंदकिशोर भारद्वाज ने गरीब महिलाओं को वस्त्र और मिठाइयां वितरित करते हुए कहा कि हम भले ही रंग रूप, जाति, भाषा, धर्म से अलग अलग हो सकते हैं पर एक भगवान की संतति हैं। हमें समाज में रहते हुए परस्पर एकदूसरे की मदद करनी चाहिए। हमें एकदूसरे का सहारा बन कर समाज और देश के विकास में भागीदार बनना चाहिए। आपसी प्रेम और भाईचारे की भावना को अपनाकर भारत को फिर से विश्व गुरू बनाने का संकल्प लेना चाहिए।

श्री नंदकिशोर भारद्वाज अपनी संस्था के माध्य से समाज के निचले गरीब लोगों के लिए कार्यरत हैं। पुनरूत्थान ट्रस्ट भारत सरकार द्वारा पंजीक्रत एक स्वायत्तशासी संस्था है, जो पर्यावरण की रक्षा, गरीबों की सेवा, दिव्यांग लोगों को रोजगार प्रदान कराने, शिक्षा का विकास तथा अनेक सामाजिक उत्थान के कार्यों के लिए हमेशा प्रयासरत है।

सामाजिक कार्यों को समर्पित पुनरूत्थान ट्रस्ट

नई दिल्ली। पुनरूत्थान ट्रस्ट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नरेंद्र नंदकिशोर भारद्वाज ने गरीब महिलाओं को वस्त्र और मिठाइयां वितरित करते हुए कहा कि हम भले ही रंग रूप, जाति, भाषा, धर्म से अलग अलग हो सकते हैं पर एक भगवान की संतति हैं। हमें समाज में रहते हुए परस्पर एकदूसरे की मदद करनी चाहिए। हमें एकदूसरे का सहारा बन कर समाज और देश के विकास में भागीदार बनना चाहिए। आपसी प्रेम और भाईचारे की भावना को अपनाकर भारत को फिर से विश्व गुरू बनाने का संकल्प लेना चाहिए।

यह भी पढ़ेंकृषि बिल के खिलाफ किसानों का दिल्ली कूच

श्री नंदकिशोर भारद्वाज अपनी संस्था के माध्य से समाज के निचले गरीब लोगों के लिए कार्यरत हैं। पुनरूत्थान ट्रस्ट भारत सरकार द्वारा पंजीक्रत एक स्वायत्तशासी संस्था है, जो पर्यावरण की रक्षा, गरीबों की सेवा, दिव्यांग लोगों को रोजगार प्रदान कराने, शिक्षा का विकास तथा अनेक सामाजिक उत्थान के कार्यों के लिए हमेशा प्रयासरत है।श्री नरेंद्र नंदकिशोर भारद्वाज सामाजिक कार्यों के लिए हमेशा अग्रसर रहते हैं। उनकी संस्था प्रतिवर्ष अपना दिवाली उत्सव गरीब लोगों के साथ मनाती है।

उत्सव की खुशी बांटी

इस वर्ष संस्था के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नरेंद्र नंदकिशोर भारद्वाज ने विशेष ढंग से दिवाली उत्सव मनाया।
उन्होंने हरियाणा राज्य के गांव कसार जिला झज्झर में दिवाली उत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया। जिसमें उन्होंने कुछ जरूरतमंद महिलाओं के लिए कपड़े और मिठाइयां वितरण कर के उनके साथ इस उत्सव की खुशी को बांट कर अत्यंत हर्ष का अनुभव किया।

नरेंद्र भारद्वाज जी ने अपने संदेश में कहा कि हम रंग रूप, जाति, भाषा और धर्म के आधार पर एकदूसरे से अलग हो सकते हैं परंतु हम सब एक भगवान की संतान हैं। हमें समाज में रहते हुए एकदूसरे की मदद करनी चाहिए। हमें एकदूसरे का सहारा बन कर समाज और देश के विकास में भागीदार बनना चाहिए। आपसी प्रेम और भाईचारे की भावना को अपनाकर भारत को फिर से विश्व गुरू बनाने का संकल्प लेना चाहिए।

जरूरतमंद महिलाओं की मदद

नरेंद्र नंदकिशोर भारद्वाज सामाजिक कार्यों के लिए हमेशा अग्रसर रहते हैं। इस वर्ष संस्था के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नरेंद्र नंदकिशोर भारद्वाज ने विशेष ढंग से दिवाली उत्सव मनाया।उन्होंने हरियाणा राज्य के गांव कसार जिला झज्झर में दिवाली उत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया। जिसमें उन्होंने कुछ जरूरतमंद महिलाओं के लिए कपड़े और मिठाइयां वितरण कर के उनके साथ इस उत्सव की खुशी को बांट कर अत्यंत हर्ष का अनुभव किया।

नरेंद्र भारद्वाज ने अपने संदेश में कहा कि हम रंग रूप, जाति, भाषा और धर्म के आधार पर एकदूसरे से अलग हो सकते हैं परंतु हम सब एक भगवान की संतान हैं। हमें समाज में रहते हुए एकदूसरे की मदद करनी चाहिए। हमें एकदूसरे का सहारा बन कर समाज और देश के विकास में भागीदार बनना चाहिए। आपसी प्रेम और भाईचारे की भावना को अपनाकर भारत को फिर से विश्व गुरू बनाने का संकल्प लेना चाहिए।

यह भी पढ़ें पानी की बौछार मारना सरकार की तानशाही का प्रमाण : कांग्रेस

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे।

Comments are closed.