Monday, July 22, 2024
Homeअन्यNoida News : क्षय रोगी खोजने के लिए 15 मई से चलेगा विशेष अभियान

Noida News : क्षय रोगी खोजने के लिए 15 मई से चलेगा विशेष अभियान

 

 21 कार्य दिवस तक चलने वाले अभियान को एचडब्ल्यूसी के माध्यम से किया जाएगा संचालित

 

नोएडा टीबी मुक्त भारत अभियान को गति प्रदान करने के लिए एक बार फिर अभियान चलाया जाएगा। इस बार यह अभियान आयुष्मान भारत – हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स (एचडब्ल्यूसी) के जरिए चलेगा। इसे विशेष क्षय रोगी खोज अभियान नाम दिया गया है। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं जिला क्षय रोग अधिकारी डा. शिरीष जैन ने बताया – विशेष क्षय रोगी खोज अभियान 15 मई से शुरू होगा। एचडब्ल्यूसी पर टीबी संबंधी सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए यह अभियान 21 कार्य दिवस का होगा। उन्होंने बताया –  शासन के निर्देश पर अभियान के सफल संचालन के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार की जा रही है।

 डा जैन ने बताया- अभियान के संबंध में राज्य क्षय नियंत्रण कार्यक्रम अधिकारी की ओर से दिशा-निर्देश प्राप्त हो गए हैं। एचडब्ल्यूसी पर टीबी संबंधी सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए अभियान से पूर्व ग्राम स्तर पर ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में विलेज हेल्थ सैनिटेशन एंड न्यूट्रीशियन कमेटी (वीएचएसएनसी) की बैठक का आयोजन किया जाएगा। हर एचडब्ल्यूसी के क्षेत्र में उच्च प्राथमिकता (दूरस्थघनी आबादी और मलिन बस्ती) वाले क्षेत्रों का चयन किया जा रहा है। राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम (एनटीईपी) के स्टाफ द्वारा सूची तैयार कर संबंधित सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) को उपलब्ध करायी जाएगी। उन्होंने बताया- अभियान के लिए माइक्रो प्लान तैयार कर लिया गया। बुधवार (10 मई) को मुख्य चिकित्सा अधिकारी की अध्यक्षता में अभियान की तैयारियों को लेकर विभागीय बैठक आयोजित की जाएगी।

डा.जैन ने निर्देश दिए हैं कि ग्राम स्तर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान टीबी मुक्त ग्राम पंचायत के बारे में बताया जाए और ग्राम प्रधान समेत अन्य मुअज्जिज लोगों को टीबी मुक्त ग्राम पंचायत बनाने के लिए प्रेरित किया जाए।

एनटीईपी स्टाफ बीच में उपचार छोड़ने वाले क्षय रोगियों की सूची तैयार कर सीएचओ को उपलब्ध कराएगा ताकि रोगी को वापस उपचार पर लिया जा सके। जिला स्तर पर अभियान का पर्यवेक्षण खुद सीएमओएसीएमओडिप्टी सीएमओजिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) और जिला कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर (डीसीपीएम) करेंगे, जबकि ब्लॉक स्तर पर यह जिम्मेदारी प्रभारी चिकित्सा अधिकारीब्लॉक कार्यक्रम प्रबंधक (बीपीएम) और ब्लॉक कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर (बीसीपीएम) की होगी।

2022 में चलाया गया था पहला विशेष अभियान

टीबी मुक्त भारत का लक्ष्य हासिल करने के लिए वर्ष 2022 में पहली बार टीबी संबंधी सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए आयुष्मान भारत – हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर को शामिल किया गया था। 23 अगस्त से 30 सितंबर, 2023 तक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के जरिए पहला विशेष क्षय रोगी खोज अभियान चलाया गया था। इसके बाद दिसंबर, 2022 से हर माह की 15 तारीख को एचडब्ल्यूसी पर एकीकृत निक्षय दिवस का आयोजन किया जाता है। एकीकृत निक्षय दिवस पर आशा की ओर से चिन्हित क्षय रोग से मिलते जुलते लक्षण वालों की बलगम जांच कराई जाती है। साथ ही शुगर व एचआईवी स्क्रीनिंग भी की जाती है। अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित करने के उद्देश्य से टीबी की जांच बढ़ाई जा रही है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments