Sunday, July 21, 2024
Homeअन्यमोदी सरकार ने नीतिगत पंगुता को किया समाप्त: शाह

मोदी सरकार ने नीतिगत पंगुता को किया समाप्त: शाह

नई दिल्ली  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को सक्रिय और काम करती दिखने वाली करार देते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज जोर देकर कहा कि सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल में देश को नीतिगत पंगुता से बाहर निकालने, भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने, विश्वास की कमी को दूर करने और प्रधानमंत्री कार्यालय के सम्मान को बहाल करने का काम किया गया है। राजग सरकार के एक वर्ष के कामकाज के दौरान उठाये गए कदमों का जिक्र करते हुए अमित शाह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सरकार ने संघीय ढांचे को मजबूत करने और विदेशों में भारत की स्थिति को बेहतर बनाने का काम किया है, साथ ही वह कालाधन वापस लाने और देश को तेज गति से विकास के पथ पर अग्रसर करने को प्रतिबद्ध है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ”पूर्ववर्ती सरकार के विपरीत यह सरकार काम करती दिख रही है जबकि पिछली सरकार कहीं नहीं दिखती थी। हमने प्रधानमंत्री कार्यालय के सम्मान को भी बहाल किया है। सरकार नीतिगत पंगुता से बाहर आई है। विश्वास की कमी दूर हो गई है और दुनिया अब भारत की प्रगति को स्वीकार कर रही है।’’ उन्होंने कहा, ”हम भ्रष्टाचार को समाप्त करने को प्रतिबद्ध थे और हमने भ्रष्टाचार मुक्त शासन प्रदान किया है। हमारे विरोधी भ्रष्टाचार का कोई भी आरोप लगा नहीं पाए। मैं समझता हूं कि यह इस सरकार की एक बड़ी उपलब्धि है।’’

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कोयला और 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में ‘शून्य नुकसान’ की परिकल्पना पेश करने वाले नेताओं को जनता के समक्ष इसकी फिर से व्याख्या करने की चुनौती दी। भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि संप्रग सरकार ने झूठ को सच बनाकर पेश करने में महारथ हासिल की थी। शाह ने यह भी कहा कि देश में जब भी कांग्रेस सरकार रही, देश की वृद्धि दर नीचे गिरी है लेकिन जब भाजपा सत्ता में आती है तब यह उपर उठती है। उन्होंने सवाल किया, ”आजादी के बाद से 60 वर्षों के शासनकाल में कांग्रेस ने कालाधन पर लगाम लगाने के लिए क्या किया।’’ उन्होंने जोर दिया कि भाजपा कालाधन को वापस लाने के लिए कानूनी कदम उठाने को प्रतिबद्ध है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ”किसी को नहीं बख्शा जायेगा और इसलिए विदेशों में जमा बिना हिसाब के कालेधन के लिए इस सरकार ने नया कानून बनाया है। मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि अब से कोई धन इस देश से बाहर नहीं जायेगा।’’ शाह ने उन लोगों पर भी निशाना साधा जो विदेशों में बिना हिसाब वाला धन जमा करने वालों के नाम जानना चाहते हैं और ऐसे लोगों को कालाधन सृजित करने वालों का वकील बताया क्योंकि नाम उजागर करने से अंतरराष्ट्रीय संधियों का उल्लंघन होगा।

अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार के तहत संघीय ढांचा मजबूत हुआ है और प्रधानमंत्री देश को ‘टीम इंडिया’ के माध्यम से प्रगति की दिशा में आगे ले जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ”पूर्वी भारत के अनेक राज्यों में भाजपा के सत्ता में नहीं होने के बावजूद हम अपने वादे के अनुरूप क्षेत्र के विकास के लिए काम कर रहे हैं। इससे देश के संघीय ढांचा और मजबूत बनेगा।’’ भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘मोदी ने टीम इंडिया का नया विचार पेश किया है जहां केंद्र और राज्य एक ही टीम का हिस्सा हों।’’ आर्थिक मोर्चे पर सरकार के कामकाज की सराहना करते हुए शाह ने कहा कि सत्ता में एक वर्ष रहने के बाद वृद्धि दर 5.7 प्रतिशत हो गयी है। उन्होंने कहा, ”जब कांग्रेस सत्ता में आती है, वृद्धि दर नीचे आती है लेकिन जब भाजपा सत्ता में आती है तब यह बढ़ता है।’’ इस संबंध में उन्होंने वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार, संप्रग और वर्तमान सरकार के समय के आंकड़ों का जिक्र भी किया। शाह ने दावा किया कि राजकोषीय घाटा नियंत्रण में है, कारोबार बढ़ा है, विदेशी मुद्रा भंडार 10 वर्षों में सर्वोच्च है और कीमतों को नियंत्रण में लाया गया है। पिछले एक वर्ष में गरीबी के संबंध में सरकार की ओर से उठाये गए कदमों का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जनधन योजना के तहत 15 करोड़ लोगों, विशेष तौर पर गरीबों के खाते खुले और उन्हें देश की वित्तीय व्यवस्था से जोड़ा गया।

अमित शाह ने प्रत्यक्ष नकद अंतरण के जरिये भ्रष्टाचार में कमी आने का जिक्र किया, साथ ही कहा कि मुद्रा बैंक से छोटे कारोबारियों को ऋण सुविधा प्राप्त करने में मदद मिलेगी। उन्होंने सरकार की मेक इन इंडिया पहल के जरिये रोजगार के अधिक अवसर सृजित करने और अधिक बिजली पैदा करने के साथ 2019 तक देश के सभी गांवों को बिजली प्रदान करने का भी जिक्र किया। भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि पूर्ववर्ती संप्रग सरकार ने डब्ल्यूटीओ में किसानों के हितों को बेचने का काम किया लेकिन राजग ने यह सुनिश्चित किया कि उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य मिले। उन्होंने कहा कि हमने सुरक्षा एजेंसियों को एकजुट करने का काम किया और देश की आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाया। प्रधानमंत्री ने अपने संवाद के जरिये भारत की स्वीकार्यता बढ़ाई है। बहुमत हासिल होने के मद्देनजर अनुच्छेद 370 और राम मंदिर जैसे मुद्दों के बारे में पार्टी की योजनाओं के बारे में पूछे जाने पर शाह ने कहा कि इनके लिए 370 सांसदों और दो तिहाई बहुमत की जरूरत होती है। उन्होंने कहा, ”हमारे पास इन मुद्दों के लिए (लागू करने) जरूरी बहुमत अभी भी नहीं है।’’ मोदी सरकार की एक वर्ष की उपलब्धियों को लोगों तक पहुंचाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा एक जून तक 4413 रैलियां आयोजित करेगी। उन्होंने कहा कि हमारे कार्यकर्ता जून, जुलाई और अगस्त में आठ करोड़ घरों तक पहुंचने का पूरा प्रयास करेंगे। शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने आधारभूत ढांचे के विकास पर विशेष जोर दिया है। भाजपा अध्यक्ष ने इस अवसर पर सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करने वाली पुस्तिका को भी जारी किया।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments