मोदी अब बिहार को दिखा रहे हैं सब्जबाग: राहुल गांधी

अमेठी। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बिहार को सवा लाख करोड़ रूपये का पैकेज देने की घोषणा पर तंज कसते हुए कहा कि सेनाकर्मियों को ‘वन रैंक, वन पेंशन’ का वादा करके मुकरने वाले मोदी अब बिहार की जनता को भी सब्जबाग दिखा रहे हैं। राहुल ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दो दिवसीय दौरे के पहले दिन शुकुलबाजार के रानीगंज गांव में संवावददाओं से बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा सहरसा की चुनावी रैली में बिहार को सवा लाख करोड़ रूपये का पैकेज दिये जाने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि मोदी ने तो ‘वन रैंक, वन पेंशन’ का वादा भी किया था लेकिन क्या वह पूरा हुआ। राहुल दखिन गांव भी गये और ग्रामीणों से बात की। राहुल की इस यात्रा को भाजपा की इस योजना से जोड़कर देखा जा रहा है, जिसमें पार्टी कांग्रेस के कब्जे वाले 44 लोकसभा क्षेत्रों में अपने नेताओं को भेजना चाहती है ताकि संसद के मानसून सत्र में कोई कामकाज न होने के लिए कांग्रेस को दोषी ठहराया जा सके। इसके पूर्व, राहुल गांधी निर्धारित समय से करीब डेढ़ घंटे की देर से लगभग साढ़े दस बजे लखनऊ स्थित चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर उतरे। माना जा रहा था कि वह बुधवार को राजधानी में विधानसभा का घेराव करने जाते वक्त पुलिस लाठीचार्ज में घायल हुए पार्टी के प्रदेश प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री तथा प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री समेत अन्य जख्मी नेताओं का हाल लेने जायेंगे लेकिन वह वह हवाई अड्डे से सीधे सड़क मार्ग से अमेठी रवाना हो गये।

उन्होंने कहा कि मोदी के पास बिहार को आर्थिक पैकेज देने के लिए धन है लेकिन सैन्य कर्मियों से किये गये ‘वन रैंक, वन पेंशन’ के वादे को पूरा करने के लिए धन की कमी की बात कह रहे हैं। उनके पास विदेश यात्राओं पर जाने के लिए धन है, लेकिन देश के सैनिकों को देने के लिए नहीं है। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बिहार को पैकेज देने का वादा किया है लेकिन उस वादे का क्या हुआ जिसमें उन्होंने सत्ता में आने पर देश के हर नागरिक के खाते में काले धन के 15 लाख रूपये जमा करने की बात कही थी। बिहार को पैकेज का वादा भी कहीं चुनावी जुमला ना साबित हो। मोदी दरअसल पैकेज का वादा करके बिहार की जनता को सब्जबाग दिखा रहे हैं।

रानीगंज में ही चौपाल में किसानों को संबोधित करते हुए राहुल का ध्यान खास तौर से भूमि अधिग्रहण विधेयक पर रहा। उन्होंने कहा कि मोदी किसानों की जमीन छीनकर पूंजीपतियों को देना चाहते हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने किसानों से पूछा कि जिन किसानों की जमीन ली गयी, उनमें से कितनों को नौकरी मिली। व्यापमं, ललित गेट और भूमि अधिग्रहण विधेयक पर पार्टी द्वारा संसद में अपनाये गये आक्रामक रूख को और धार देते हुए राहुल ने नरेन्द्र मोदी सरकार पर सिर्फ पूंजीपतियों के लिए काम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश के हितों की सुरक्षा के लिए कांग्रेस को दोबारा मजबूत करने की जररूत है। राहुल ने शुकुलबाजार के पूरे लडई गांव में जनसम्पर्क के दौरान कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार सिर्फ पूंजीपतियों के लिये काम कर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार नये भूमि अधिग्रहण कानून के जरिये किसानों की जमीन छीनना चाहती थी लेकिन कांग्रेस ने उसका पुरजोर विरोध किया। हालांकि पार्टी को और मजबूत किये जाने की जररूत है। केन्द्र और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं है, इसलिए वह जनता के लिए चाहकर भी कुछ खास नहीं कर पा रहे हैं। राहुल ने कहा कि जनता के हितों की सुरक्षा के लिए कांग्रेस को मजबूत करने की जररूत है। देश का भविष्य कांग्रेस में ही निहित है। अमेठी जाते हुए अपने संक्षिप्त ठहराव के दौरान राहुल ने इस बात पर जोर दिया कि सिर्फ कांग्रेस ही देश के हितों की हिफाजत कर सकती है। ग्रामीणों के साथ कई जगहों पर बात करते हुए भी राहुल ने पार्टी को मजबूत करने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा, ‘‘आपका फर्ज है कि आप कांग्रेस को मजबूत करें। देश का भविष्य कांग्रेस के हाथों में है।’’

 

Comments are closed.