डॉक्टर निज़ाम को भाजपा ने दिया सम्मान

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता एवं साउथ एमसीडी (SDMC) मेयर श्रीमति अनामिका सिंह ने कोरोना वॉरियर स्वर्गीय श्री निज़ाम आलम जी के परिवार को 10 लाख रुपये का चेक(आर्थिक मदद) और दिल्ली सरकार में डॉक्टर निज़ाम की धर्मपत्नी को नियुक्ति पत्र सोंपा ।

नई दिल्ली,

दिल्ली के द्वारका निवासी कोरोना के चलते जान गँवाने वाले कोरोना वॉरियर 41 वर्षीय डॉक्टर निज़ाम आलम को आज (03-11-2020) भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता एवं एसडीएमसी मेयर अनामिका सिंह द्वारा डॉक्टर निज़ाम के आश्रित उनकी धर्मपत्नी श्रीमति शबाना आफ़रीन को 10 लाख रुपए के चेक से आर्थिक मदद की गयी।

साथ ही दिल्ली में नौकरी का नियुक्ति पत्र भी सौंपा गया । दिल्ली के सिविक सेंटर में हुए कार्यक्रम के दौरान स्वर्गीय डॉक्टर निज़ाम के साथ कार्यरत और कार्य कर चुके कई अन्य डॉक्टर भी इस दौरान मौजूद रहे।

डॉक्टर निज़ाम की धर्मपत्नी को चेक सौपते हुए आदेश गुप्ता एवं साउथ एमसीडी (SDMC) मेयर अनामिका सिंह

मदद के बाद क्या कहती हैं डॉक्टर निज़ाम की धर्मपत्नी

निजाम आलम की पत्नी c के साथ डॉक्टर निज़ाम के दो छोटे बच्चे हैं (इफरा, ज़या) शबाना आफरीन का कहना है कि आदेश गुप्ता जी और श्रीमति अनामिका सिंह जी द्वारा जो मदद की गयी है वह काफ़ी सहायक साबित होगी । मुझे सरकार में नियमित नौकरी के लिए नियुक्ति पत्र भी दिया गया है और मुझे लगता है की ये नौकरी मेरे और मेरे बच्चों के लिये मददगार साबित होगी।

कौन थे कोरोना से जान गँवाने वाले डॉक्टर निज़ाम आलम

डॉक्टर रंगपुरी पहाड़ी, इसराईली कैम्प (महिपालपुर) में कोरोना की ड्यूटी कर रहे थे, 13 अक्टूबर को निज़ाम आलम कोरोना पॉसीटिव पाए गये फिर वह हॉम आइसोलेशन में रहे और एक दिन वैनकेटेश्वर अस्पताल में एडमिट हुए तो वहां उनकी हालत खराब रही जिसके बाद मेदान्ता में उन्हें भेजा गया 27 अकटूबर की सुबह 4:30 बजे करीब मेदांता अस्पताल में उनकी मृत्यु हुई ।

क्या कहते हैं दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता

जिस वक़्त लोगों को सबसे ज़्यादा डॉक्टर की ज़रूरत थी उस समय डॉक्टर निज़ाम ने अपना योगदान दिया और कोरोना संक्रमितो की सेवा करते करते उनकी जान चली गयी, ऐसे कोरोना योद्धा को मेरा नमन है,

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता

साथ ही मैं दक्षिणी दिल्ली की मेयर अनामिका जी का भी धन्यवाद करता हूँ की उन्होंने डॉक्टर निज़ाम के आश्रितों के लिए ये बड़ा कदम उठाया है, साथ ही पहले भी जिस तरह से क़रीब 12 कोरोना योद्धाओं की मदद आपने की थी वो क़ाबिल ए तारीफ़ है,

कोरोना योद्धा किसी भी सरकार से जुड़ा हो लेकिन उसे दिल्ली सरकार को भी ऐसे सम्मान देना चाहिए। ये राशि डॉक्टर निज़ाम को वापस नहीं ला सकती लेकिन भाजपा हमेशा उनके परिवार के साथ खाड़ी रहेगी।

क्या कहते हैं स्टैंडिंग कमेटी चैरमैन राजदत्त गहलोत

कोरोना के इस समय में जिस तरह से भाजपा इस पूरे मामले से निपटने में कारगर साबित हो रही है और लगातार काम कर रही है इसके साथ ही निगम की जितनी प्रशंसा की जाए वो कम है, चाहे वो निगम के पार्षदों द्वारा किए गए खाना बाँटने से लेकर जरूरतमंदो की मदद हो, इसी कड़ी में डॉक्टर निज़ाम जिस तरह से लोगों के कार्य करते रहे और कोरोना से जूझे अपने परिवार की परवाह किए बग़ैर वो क़ाबिले तारीफ़ है।

क्या कहती हैं एसडीएमसी मेयर अनामिका सिंह

इस मामले हमारे आयुक्त जी का बहुत बड़ा योगदान है क्यूँकि उनकी वजह से ही हमारी जानकारी में डॉक्टर निज़ाम आए और हम उनके परिवार की मदद कर पाए, हम उनके परिवार के साथ हैं और योद्धा को हमारा नमन है।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल “दिल्ली दर्पण टीवी” सब्सक्राइब करे।

Comments are closed.